देश

जम्मू कश्मीर: उथल-पुथल जारी, आधी रात को महबूबा मुफ्ती और उमर अब्दुल्ला सहित कई नेता नजरबंद

डेस्क: जम्मू कश्मीर में जारी आशंकाओं के बीच पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती और उमर अब्दुल्ला समेत मुख्यधारा के कई नेताओं को नजरबंद कर दिया गया है। नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला और पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती के अलावा सज्जाद लोन को भी नजरबंद किया गया है। उधर, कांग्रेस नेता उस्मान माजिद और सीपीएम नेता एमवाई तारिगामी ने भी दावा किया कि उन्हें देर रात गिरफ्तार कर लिया गया है।

इसके अलावा श्रीनगर जिले में धारा 144 भी लगा दी गई है और स्कूल, कॉलेजों को बंद रखने के निर्देश दिए गए हैं। बता दें कि यह कदम ऐसे समय में आया है जब राज्य में सुरक्षाबलों की भारी तैनाती की जा रही है और तीर्थयात्रियों, पर्यटकों, छात्रों और खिलाडियों को तुरंत कश्मीर छोड़ने के लिए कहा गया है।

नैशनल कॉन्फ्रेंस के नेता अब्दुल्ला ने ट्वीट किया, ‘मुझे लगता है कि मुझे आज आधी रात से घर में नजरबंद किया जा रहा है और मुख्यधारा के अन्य नेताओं के लिए भी यह प्रक्रिया पहले ही शुरू हो गई है।’ उन्होंने कहा कि इसकी सच्चाई जानने का कोई तरीका नहीं है लेकिन अगर यह सच है तो फिर आगे देखा जाएगा। ‘

उधर पीडीपी नेता महबूबा मुफ्ती ने भी ट्वीट कर कहा, ‘कैसी विडंबना है कि हमारे जैसे चुने हुए प्रतिनिधि जो शांति के लिए लड़े थे, घर में नजरबंद हैं। दुनिया देख रही है कि जम्‍मू-कश्‍मीर में लोगों और उनकी आवाज को दबाया जा रहा है। वह कश्मीर जिसने एक धर्मनिरपेक्ष लोकतांत्रिक भारत को चुना था, अकल्पनीय उत्पीड़न का सामना कर रहा है। जागो भारत जागो।’

महबूबा ने एक ट्वीट में लिखा है , ‘मोबाइल फोन कनेक्शन समेत जल्द ही इंटरनेट बंद किए जाने की खबरें सुनीं। कर्फ्यू का आदेश भी जारी किया जा रहा है। अल्लाह जानता है कि हमारे लिए कल क्या इंतजार कर रहा है। यह रात लंबी होने वाली है।’ उन्होंने कहा कि इतने मुश्किल वक्त में, मैं अपने लोगों को आश्वस्त करना चाहती हूं कि जो भी हो हम एकजुट हैं और हम एक साथ लड़ेंगे। जिस पर हमारा अधिकार है उसके लिए लड़ने के हमारे संकल्प को कोई भी चीज नहीं डिगा सकती।

Desk
Social Activist
https://khabarilaal.com