बिहार राज्य

CM कॉलेज, दरभंगा में 65वी BPSC (प्रारंभिक) प्रतियोगिता परीक्षा के लिए निशुल्क कोचिंग प्रारंभ

दरभंगा- राज्य एवं राष्ट्रीय स्तर पर विभिन्न सरकारी एवं गैर सरकारी प्रतिष्ठानों में नौकरी प्राप्त करने के लिए प्रतियोगिता परीक्षा की अनिवार्यता हो गई है। ऐसे प्रतिस्पर्धा के समय में प्रतियोगिता परीक्षा की तैयारी के मूल मंत्र से अवगत होना भी सफलता की कुंजी है । उक्त बातें वसीम अहमद, जिला अल्पसंख्यक कल्याण पदाधिकारी ने कही । श्री वसीम अहमद स्थानीय सी०एम० कॉलेज, दरभंगा में 65वी बिहार लोक सेवा आयोग की प्रतियोगिता परीक्षा के लिए नि:शुल्क कोचिंग के उदघाट्न सत्र को बतौर मुख्य अतिथि संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि प्रतियोगिता परीक्षा के लिए धैर्य एवं जिज्ञासा दोनों आवश्यक है । सम-सामयिक घटनाओं और विषय वस्तु का गहन अध्ययन लाभदायक होता है। डॉक्टर मुश्ताक़ अहमद, प्रधानाचार्य ने कहा कि नि:शुल्क कोचिंग अल्पसंख्यक वर्ग के लिए राष्ट्र की मुख्यधारा से जुड़ने का सुनहरा अवसर है। क्योंकि आर्थिक दृष्टि से पिछड़े छात्र-छात्राओं को इस कोचिंग के माध्यम से प्रतियोगिता परीक्षा की तैयारी कराई जाती है और पुस्तकों के साथ-साथ अन्य पाठ्य सामग्री भी दी जाती है।

ज्ञातव्य हो कि अल्पसंख्यक कल्याण विभाग, बिहार सरकार, पटना के सौजन्य से नि:शुल्क कोचिंग संचालित होती है, जिसकी नोडल एजेंसी मौलाना मजहरुलहक अरबी व फारसी विश्वविद्यालय, पटना है। डॉ० अहमद ने कहा कि जांच परीक्षा के आधार पर 60 अल्पसंख्यक वर्ग एवं 15 गैर अल्पसंख्यक वर्ग के छात्र-छात्राओं का चयन हुआ है। डॉक्टर अहमद ने कहा कि यह नि:शुल्क कोचिंग अल्पसंख्यक वर्ग के लिए वरदान साबित हो रहा है। क्योंकि इससे बड़ी संख्या में आर्थिक दृष्टि से पिछड़े वर्ग के छात्र सफलता पा रहे हैं। विगत वर्ष 64 वीं बी०पी०एस०सी में 22 छात्र-छात्राओं ने सफलता पाई थी। इस बार प्रयास है कि अधिक से अधिक छात्र सफल हो सके। इस अवसर पर प्रोफेसर विकास कुमार, प्रोफेसर ज़्या हैदर, डॉक्टर वजाहत, रियाज अहमद, मोहम्मद फखरुद्दीन आदि ने छात्र-छात्राओं को प्रतियोगिता परीक्षा के लिए नियम एवं पाठ्यक्रम की जानकारी दी और उनके सफलता की कामना की।

Desk
Social Activist
https://khabarilaal.com