देश राजनीती

राष्ट्र के नामन संबोधन: पीएम मोदी ने फिल्म इंडस्ट्री से की ये खास अपील

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने औरराज्य पुनर्गठन विधेयक पास होने के बाद पीएम मोदी ने आज पहली बार देश को संबोधित किया। अपने 38 मिनट के संबोधन उन्होंने कहा, देश ने एक ऐतिहासिक फैसला लिया है। उन्होंने कहा कि पटेल-अंबेडकर और अटलजी का सपना पूरा हुआ है। अनुच्छेद 370 के बारे में मान लिया गया था कि ये बदलेगा ही नहीं। इससे जो हानि हो रही थी, उसकी चर्चा ही नहीं हो रही थी। उन्होंने कहा कि अनुच्छेद 370 और 35ए ने जम्मू कश्मीर को अलगाववाद, आतंकवाद, परिवारवाद और व्यवस्था में बड़े पैमाने पर फैले भ्रष्टाचार के अलावा कुछ नहीं दिया। इसके कारण तीन दशक में राज्य में 42 हजार निर्दोष लोग मारे गए।

पीएम मोदी ने कहा कि देश के अन्य राज्यों में सफाई कर्मचारियों के लिए सफाई कर्मचारी एक्ट लागू है, लेकिन जम्मू-कश्मीर के सफाई कर्मचारी इससे वंचित थे। देश के अन्य राज्यों में दलितों पर अत्याचार रोकने के लिए सख्त कानून लागू है, लेकिन जम्मू-कश्मीर में ऐसा नहीं था। देश के अन्य राज्यों में अल्पसंख्यकों के हितों के संरक्षण के लिए माइनॉरिटी ऐक्ट लागू है, लेकिन जम्मू-कश्मीर में यह लागू नहीं था। देश के अन्य राज्यों में श्रमिकों के हितों की रक्षा के लिए मिनिमम वेजेज ऐक्ट लागू है, लेकिन जम्मू-कश्मीर में यह सिर्फ कागजों पर ही था।

Image

पीएम ने कहा कि नई व्यवस्था में केंद्र सरकार की ये प्राथमिकता रहेगी कि राज्य के कर्मचारियों को, जम्मू-कश्मीर पुलिस को, दूसरे केंद्र शासित प्रदेश के कर्मचारियों और वहां की पुलिस के बराबर सुविधाएं मिलें।

उन्होंने कहा कि जैसे पंचायत के चुनाव पारदर्शिता के साथ संपन्न कराए गए, वैसे ही विधानसभा के भी चुनाव होंगे। मैं राज्य के गवर्नर से ये भी आग्रह करूंगा कि ब्लॉक डवलपमेंट काउंसिल का गठन, जो पिछले दो-तीन दशकों से लंबित है, उसे पूरा करने का काम भी जल्द से जल्द किया जाए।

पीएम मोदी ने कहा, ‘एक जमाना था जब बॉलीवुड की फिल्मों की शूटिंग कश्मीर में होती थी। उस दौर में शायद ही कोई ऐसी फिल्म होती थी जिसकी शूटिंग कश्मीर में नहीं होती थी। अब जम्मू कश्मीर में स्थितियां सामान्य होगी तो देश ही नहीं बल्कि दुनिया भर के कई फिल्ममेकर्स कश्मीर में शूटिंग करने के लिए आ सकेंगे और इसके साथ ही साथ कश्मीर के लोगों के लिए रोजगार के अनेक मौके पैदा होंगे।’

इस दौरान प्रधानमंत्री ने देशवासियों को ईद की बधाई भी दी। उन्होंने कहा ईद का मुबारक त्योहार भी नजदीक ही है। ईद के लिए मेरी ओर से सभी को बहुत-बहुत शुभकामनाएं। सरकार इस बात का ध्यान रख रही है कि जम्मू-कश्मीर में ईद मनाने में लोगों को कोई परेशानी न हो। हमारे जो साथी जम्मू-कश्मीर से बाहर रहते हैं और ईद पर अपने घर वापस जाना चाहते हैं, उनको भी सरकार हर संभव मदद कर रही है।

बता दें कि प्रधानमंत्री मोदी ने अंतिम बार देश को लोकसभा चुनाव से पहले 27 मार्च को सैटेलाइट रोधी मिसाइल द्वारा एक जीवित सैटेलाइट को मार गिराने की क्षमता की घोषणा करते हुए राष्ट्र को संबोधित किया था।

Desk
Social Activist
https://khabarilaal.com