देश राज्य हरियाणा

‘कश्मीरी बहू’ विवाद: सीएम खट्टर को लेकर भ्रामक खबर फैलाई जा रही है, देखें- क्या है सच्चाई

डेस्क: हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के कश्मीरी लड़कियों को लेकर कथित विवादित बयान को लेकर सोशल मीडिया यूजर से लेकर नेताओं तक उनकी आलोचना कर रहे हैं। मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया गया कि उन्होंने कश्मीर की लड़कियों पर विवादित टिप्पणी की है। बताया जा रहा था कि उन्होंने एक कार्यक्रम के दौरान कहा कि अनुच्छेद 370 हटने के बाद कश्मीर की लड़कियों से शादी का रास्ता खुल गया है।

उनके इस कथित विवादित बयान पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ट्विट कर कहा कि, ‘हरियाणा के सीएम, खट्टर की कश्मीरी महिलाओं पर टिप्पणी घृणित है और यह दर्शाता है कि कमजोर, असुरक्षित और दयनीय आदमी के लिए आरएसएस के वर्षों का प्रशिक्षण क्या करता है। महिलाएं पुरुषों के स्वामित्व वाली संपत्ति नहीं हैं।’

अब इस मामले पर सीएम खट्टर ने ट्वीट करके सफाई दी है। उन्होंने लिखा है, ‘कुछ मीडिया चैनल और न्यूज एजेंसियों के हवाले से एक भ्रामक और तथ्यहीन प्रचार चलाया जा रहा है। जनता से मेरा ईमानदार संवाद हमेशा रहा है इसलिए मेरे बयान का पूरा विडियो मैं सोशल मीडिया के माध्यम से शेयर कर रहा हूं। बेटियां हमारी शान हैं और पूरे देश की बेटियां हमारी बेटियां हैं।’

खट्टर ने कांग्रेस नेता को जवाब देते हुए लिखा, ‘राहुल गांधी जी, आपके स्तर के नेता को कम से कम भ्रामक खबरों पर प्रतिक्रिया नहीं देनी चाहिए। मैंने जो कहा था उसका विडियो शेयर कर रहा हूं। इसे देखें मैंने असल में क्या कहा था और किस परिप्रेक्ष्य में कहा था, इससे शायद थोड़ी तस्वीर साफ होगी।’

दरअसल एक कार्यकम में सीएम मनोहर लाल खट्टर ने  हरियाणा में लिंगानुपात का जिक्र करते हुए कहा, ‘हमारे मंत्री ओपी धनखड़ कह रहे थे कि हरियाणा में शादी के लिए लड़कियां कम पड़ेंगी, तो बिहार से ले आएंगे। कुछ लोग कह रहे हैं कि अब कश्मीर खुल गया है, वहां से ले आएंगे। मजाक की बातें अलग हैं, मगर हमें समझना होगा कि अगर लिंगानुपात सही होगा तो समाज का संतुलन बना रहेगा।’

Desk
Social Activist
https://khabarilaal.com