बिहार राज्य

पटना से तीन कुख्या’त उग्रवा’दी गिर’फ्तार, 15 अगस्त को बड़ी वारदात को अंजाम देने की तैयारी

डेस्क: पटना पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है। एसएसपी के निर्देश पर कोतवाली थाने की पुलिस ने मणिपुर पुलिस के सहयोग से शुक्रवार रात तीन उग्रवा’दियों को गिरफ्तार किया। ये लोग 15 अगस्त को मणिपुर में किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने की योजना बना रहे थे।

तीनों के खिलाफ यूएपीए के तहत वारंट भी जारी था। मणिपुर पुलिस मोबाइल लोकेशन के आधार पर उन तीनों को खोजते-खोजते पटना पहुंची और एसएसपी गरिमा मलिक से सहयोग मांगा। फिर पटना पुलिस के सहयोग से तीनों उग्रवा’दी को गिरफ्तार किया।

तीनों ये मणिपुर में उग्रवा’दी घटनाओं के अंजाम देने के बाद पटना में कई दिनों से छिपकर रह रहे थे। पकड़े गए तीनों उग्रवा’दियों में कंगलैपक कम्युनिस्ट पार्टी माओवादी के अद्यकच सपेम कंगलैपक मीटी उर्फ चिरंगलें उर्फ सरत है। यह वर्ष 2008 में सेंट्रल जे’ल से इलाज के लिये सजीवर हॉस्पिटल से फरार हो गया था। दूसरा वाहेनगोबरम थोई लोवनग उर्फ जोहान है, जो माओवादी कम्युनिस्ट पार्टी का वित्त सचिव है। तीसरा साधारण कार्यकर्ता है। इनमें से एक उग्र’वादी पिछले 11 वर्ष से फरार है।

गिरफ्तारी के बाद मणिपुर पुलिस तीनों को लेकर सिविल कोर्ट पहुंची और मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी मनीष द्विवेदी के कोर्ट में पेश किया। इसके बाद न्यायिक दंडाधिकारी ने ट्रांजिट रिमांड पर ले जाने की अनुमति दे दी। इसके बाद तीनों को लेकर मणिपुर निकल गयी।

Desk
Social Activist
https://khabarilaal.com