बिहार राज्य

मुख्यमंत्री जी अटेंशन प्लीज: बिहार के लगभग एक लाख छात्र दरोगा बहाली के लिए नहीं कर पाएंगे आवेदन !

डेस्क: पुलिस विभाग ने दारोगा के दो हजार से ज्यादा पदों के अलावा सार्जेंट, सहायक जेल अधीक्षक के पद पर भी नियुक्ति का विज्ञापन मंगलवार को जारी कर दिया गया। बहाली बिहार पुलिस अवर सेवा आयोग के द्वारा की जाएगी। कुल 2446 पदों पर नियुक्ति के लिए विज्ञापन जारी किया गया है। इन सभी पदों के लिए ऑनलाइन आवेदन किये जायेंगे, जिसकी प्रक्रिया 22 अगस्त से शुरू हो चुकी है । आवेदन करने की अंतिम तिथि 25 सितंबर रखी गयी है। लेकिन बिहार के लगभग 1 लाख छात्र इस परीक्षा के लिए आवेदन नहीं कर पाएंगे।

दरअसल मगध विश्वविद्यालय के 15-18 सेशन का परिणाम काफी देरी से प्रकाशित किया गया है। बता दें कि आवेदन करने के लिए एक नियम यह है कि 1 जनवरी 2019 तक ग्रेजुएशन करने वाले छात्र ही फॉर्म भर सकते हैं। जबकि 92,000 छात्रों का परिणाम फरवरी 2019 में जारी किया गया। एक छात्र ने संदेश देकर बताया है कि परीक्षा 2018 में हो गई थी लेकिन रिजल्ट को रोक दिया गया था। इसके लिए भी बहुत बवाल हुआ था फिर रिजल्ट घोषित हुआ तो सेशन चेंज है। अब इसमें छात्रों की क्या गलती है छात्र क्यों भुगतें, छात्र समय पर परीक्षा दिए।

छात्र कहते हैं सभी छात्र असमंजस में हैं कि क्या करें? बेरोजगारी बढ़ रही है। 2014 के बाद से कोई बड़ी बहाली नही आई है और जो आई भी उसमें अप्लाई नही कर सकते। ‘सर इसे पढ़ने के बाद जल्द से जल्द इसपर कोई राय दें क्योंकि डर है छात्र कहीं गलत कदम ना उठा लें।’

सरकार इस नियम पर वरिष्ठ पत्रकार रविश कुमार कहते हैं कि ‘जिनका ग्रेजुएशन का सत्र 2015-18 का है, वो कैसे इस नियम से बाहर हो सकते हैं? क्या जिस कमरे में ऐसे नियम बनते हैं, वहां किसी को इन बातों से सहानुभूति नहीं होती कि ये नौजवान जो राज्य की गलती के कारण तीन साल का बीए चार साल में कर रहे हैं, उन्हें क्यों वंचित किया जा रहा है?’

छात्र का संदेश

सर नमस्कार,

बिहार की शिक्षा व्यवस्था से आप रूबरू होंगे ही लेकिन हाल ही में बिहार पुलिस में बिहार दरोगा के साथ कई पद के लिए बहाली निकाली गई है, उस बहाली में मगध यूनिवर्सिटी के स्नातक पास लगभग एक लाख छात्र फार्म नही भर पाएंगें, बहाली अभ्यर्थियों की शैक्षणिक योग्यता में अभ्यर्थियों का दिनांक 1।1।2019 अथवा इसके पूर्व किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक उत्तीर्ण हो..!
लेकिन छात्रों रिजल्ट 15 फरवरी 2019 में जारी किया गया… छात्रों का सेशन 15-18 था परीक्षा भी 2018 में हो गई थी लेकिन रिजल्ट को रोक दिया गया था इसके लिए भी बहुत बवाल हुआ था फिर रिजल्ट घोषित हुआ तो सेशन चेंज है। अब इसमें छात्रों की क्या गलती है छात्र क्यों भुगतें, छात्र समय पर परीक्षा दिए समय पर पास हुए…
सभी छात्र असमंजस में हैं कि क्या करें बेरोजगारी बढ़ रही है 2014 के बाद से कोई बड़ी बहाली नही आई है और जो आई भी उसमें अप्लाई नही कर सकते।।
सर इसे पढ़ने के बाद जल्द से जल्द इसपर कोई राय दें क्योंकि डर है छात्र कहीं गलत कदम ना उठा लें

आपका
रौशन कुमार गहलौत
गया,बिहार

Desk
Social Activist
https://khabarilaal.com