झारखण्ड बिहार राजनीती राज्य

विधानसभा चुनाव से पहले जेडीयू को लगा तगड़ा झटका, चुनाव आयोग ने सिंबल किया फ्रीज

डेस्क: झारखंड विधानसभा चुनाव 2019 में अब कुछ ही महीनों का समय बाकी है। राज्य के सभी राजनीतिक दल तैयारी में जुटे हुए हैं। इन सबके बीच जनता दल (JDU ) को बड़ा झटका लगा है। दरअसल, चुनाव आयोग ने झारखंड विधानसभा चुनाव 2019 में जेडीयू के चुनाव चिन्ह को फ्रीज कर दिया है। झारखंड मुक्ति मोर्चा (JMM ) की ओर से की गई मांग पर चुनाव आयोग ने यह फैसला सुनाया है।अब झारखंड में होने वाले विधानसभा चुनाव में नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू अब अपने सिंबल पर चुनाव नहीं लड़ पाएगी। जेएमएम ने भारतीय चुनाव आयोग से शिकायत की थी कि जेडीयू और जेएमएम का चुनाव चिह्न एक ही तरह का है, जिससे जनता में भ्रम पैदा होगा। बता दें कि जेडीयू का चुनाव चिन्ह तीर का निशान है। जबकि जेएमएम का चुनाव चिन्ह धनुष है।

इसको लेकर जेएमएम ने 24 जून को चुनाव आयोग में अर्जी दी थी। जेएमएम का कहना था कि जेडीयू का सिंबल उनकी पार्टी से मिलता-जुलता है, इससे मतदाता भ्रमित होगा। जेएमएम ने चुनाव आयोग ने जेडीयू का सिंबल फ्रीज करने की मांग की थी। अब जेएमएम ने चुनाव आयोग के फैसले का स्वागत किया है।

भारतीय जनता पार्टी (BJP) के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) में शामिल जनता दल यूनाइटेड (JDU) ने झारखंड में अकेले चुनाव लड़ने का ऐलान कर चुकी है। बिहार के मुख्यमंत्री और जनता दल यूनाइटेड के अध्यक्ष नीतीश कुमार से सलाह-मशविरे के बाद पार्टी के झारखंड प्रदेश अध्यक्ष सालखन मुर्मू ने अकेले चुनाव लड़ने की घोषणा की थी।

झारखंड जेडीयू प्रदेश अध्यक्ष सालखन मुर्मू ने पिछले महीने पटना में कहा था कि 25 अगस्त को रांची के बड़े हॉल में लगभग 2000 कार्यकर्ताओं, नेताओं को पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार संबोधित करेंगे और विधानसभा चुनाव का शंखनाद करेंगे। इस दौरान उन्होंने कहा था झारखंड में जनता रघुवर दास की सरकार से ऊब चुकी है और नीतीश कुमार को विकल्प के रूप में देख रही है।

Desk
Social Activist
https://khabarilaal.com