देश विदेश

कश्मीर पर पाकिस्तान का रोना, इमरान ने जनता से कहा- हम कमजोर हैं इसलिए कोई नहीं दे रहा हमारा साथ

डेस्क: कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद पाकिस्तान बौखलाया हुआ है। उसने यूएन से लेकर मुस्लिम देशों तक का दरवाजा खटखटाया लेकिन हर जगह निराशा ही हाथ लगी। सोमवार को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने अपनी आवाम को संबोधित करते हुए खुद को कमजोर बताते हुए कहा कि आज उनका साथ कोई नहीं दे रहा है। इसके साथ ही इमरान ने पर’माणु यु’द्ध की धमकी भी दी और कहा कि ऐसे यु’द्ध का कोई नतीजा नहीं निकलेगा दुनिया तबाह हो जाएगी। इमरान खान ने कहा कि कश्मीर के लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं।

उन्होंने कहा कि इस मामले में यूएनएससी की बैठक होने से ही मामला अंतरराष्ट्रीय हो गया है और पूरी दुनिया का ध्यान खींचा गया है। इमरान खान ने निराशा जताते हुए का कि आज दुनिया की ताकतें और मुसलमान देश भी मजबूरी की वजह से उनके साथ नहीं हैं लेकिन वक्त के साथ वह उनका साथ जरूर देंगी। उन्होंने कहा, ‘आप मायूस न हों, हम पूरी दुनिया में कश्मीर के ऐंबेसडर बनेंगे। मैं 27 सितंबर को यूएन में यह मुद्दा उठाऊंगा।’

यूएन में कश्मीर का मुद्दा उठाने के बाद पाकिस्तान को मुंह की खानी पड़ी। इस पर इमरान खान ने कहा , ‘यूएन की जिम्मेदारी है कि कमजोर के साथ खड़े हों लेकिन वह हमेशा ताकतवर का ही साथ देता है।’ उन्होंने पर’माणु हथि’यारों की धमकी देते हुए कहा कि दोनों तरफ पर’माणु हथि’यार हैं। अगर यु’द्ध हुआ तो दोनों देशों के साथ पूरी दुनिया तबाह होगी। इमरान ने कहा, ‘हम कश्मीर के लिए किसी भी हद तक जाएंगे।’

बता दें कि जम्मू और कश्मीर में अनुच्छेद 370 को खत्म करने के भारत सरकार ने जो फैसला लिया है उससे पाकिस्तान में खलबली मची हुई है। वह भारत सरकार के फैसले को स्वीकार नहीं कर पा रहा है। इस मसले को लेकर गाहे-बगाहे उसकी बेचैनी दिखाई देती रहती है।

इससे पहले आज ही कश्मीर मुद्दे को लेकर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच बैतहक हुई। इस बैठक में पीएम मोदी ने साफ किया कि कश्मीर पूरी तरह द्विपक्षीय मामला है। मोदी ने कहा कि भारत और पाकिस्तान के बीच कई द्विपक्षीय मुद्दे हैं और हम किसी तीसरे देश को कष्ट नहीं देना चाहते। हम द्विपक्षीय रूप से इन मुद्दों पर चर्चा कर इनका समाधान कर सकते हैं। ट्रंप ने भी उनकी बातों से सहमति जताई और इसे द्विपक्षीय मामला बताया।

Desk
Social Activist
https://khabarilaal.com