आभासी दुनिया बिहार राज्य

यदि बिहार में अभी राजद की सरकार होती तो बीजेपी वाले छाती पीट के सिलौट कर लेते !

कहेंगे तो लग जाएगा धक से।

बिहार में कानून व्यवस्था और अप’राध की जो वर्तमान स्थिति है, यदि यही ग़ैरबीजेपी के सरकार में होती तो बीजेपी जंग’लराज-जंगल’राज कह-कहके पहाड़ तोड़ देती। सरेआम ह’त्या हो रही है, अपह’रण-बला’त्कार-चो’री-डकै’ती रोजाने की घटनाएं हो चुकी है। अप’राधी बेख़ौफ़ घूम रहे हैं और बिहार डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे जी फेसबूक/मीडिया में लाइव आकर भाषणबाजी पेल रहे हैं। कानून का भय अप’राधीयों में ऐसा है की थाने में कम्प्लेन करने आए फरियादी की बाइक इंस्पेक्टर ऑफिस के सामने से चुरा के ले जा रहे हैं।

पुलिस की हालत कैसी है ये आपने पूर्व सीएम जगन्नाथ मिश्रा जी के अंत्येष्टि वाले वीडियो में देख ही लिया होगा। यही सब कहीं यदि राजद की सरकार में हुआ होता तो बीजेपी वाले छाती पीट के सिलौट कर लेते। मीडिया टीवी पर रोजाना बिहार के स्थिति के बारे में डरावनी चेतावनी जारी कर रही होती। विपक्ष के रूप में नीतीश कुमार को ऐसा मरल-नालायक दु गो यादवकुमार मिला है जिसपर चर्चा करना ही बेकार है।

लेकिन इस सबको मैनेज करने से कुछ नहीं होगा नीतीश जी। आपका कालचक्र पुरा हो गया है। ध्यान से देखिए। आप जिन समस्याओं, परिस्थितियों और निराशा के द्वारा लाए गए थे, वही परिस्थितियां बिल्कुल उसी ढंग से फिर सामने है। आपका समय समाप्त होता है, राज्यकाल अंतिम वर्ष में आने को है। 2020 में बिहार के लोग अपना भविष्य युवा नेतृत्व के हाथ मे देंगे।

आलेख: युवा समाजसेवी आदित्य मोहन के फेसबुक टाइमलाइन से

Desk
Social Activist
https://khabarilaal.com