बिहार राज्य

नितीश सरकार का बड़ा फैसला, अब बिहारी युवाओं के चेहरे पर ‘रौनक’ भी आएगी ‘बाहुबली’ बन पाएंगे !

डेस्क: बिहार की नीतीश कुमार सरकार ने राज्य में पूर्ण शराबबंदी के बाद अब एक और बड़ा फैसला लिया है । प्रदेश की नीतीश सरकार ने राज्य में पान मसाले के उत्पादन और बिक्री पर पूरी तरह से बैन लगा दिया है। प्रदेश सरकार के खाद्य संरक्षा आयुक्त की ओर से बिहार में बिकने वाले कई ब्रांडों के पान मसाले की बिक्री पर प्रतिबंध लगाया गया है।

सरकार ने शुक्रवार को इस संबंध में आदेश जारी करते हुए कहा है कि प्रदेश में किसी भी प्रकार के पान मसाले के उत्पादन, संरक्षण और बिक्री पर पूरी तरह से बैन लगाने का आदेश जारी किया है। खाद्य संरक्षा आयुक्त संजय कुमार ने कहा है कि पूरे राज्य में दिनांक 30।08।2019 से एक वर्ष की अवधि तक पैकेट या खुले रूप में विनिर्माण, भंडारण, परिवहन, प्रदर्शन और बिक्री पर पूर्ण प्रतिबंध लगाया गया है। उन्होंने आमजन से अनुरोध किया है कि वो उक्त प्रतिबंध को लागू कराने में आवश्यक सहयोग प्रदान करें।

सरकार ने इस आदेश से पूर्व जून से अगस्त के बीच तमाम ब्रांड्स के पान मसालों का सैंपल इकट्ठा कर इनकी जांच कराई थी। सरकार को इस कार्रवाई से पहले यह सूचना मिली थी की इन पान मसालों में मैग्नीशियम कार्बोनेट जैसे हानिकारक तत्व होते हैं, जिनके सेवन से इंसान के शरीर पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है। टेस्ट में इन सभी सैंपल में अधिकतम में मैग्नीशियम कार्बोनेट की मात्रा मिली थी।

सरकार को टेस्ट की रिपोर्ट में यह बताया गया था कि इस प्रकार के पान मसालों के सेवन से हृदय रोग और कैंसर जैसी गंभीर बीमारियों की संभावना बढ़ जाती है। ऐसे में सरकार ने इसे एक गंभीर मामला मानते हुए शुक्रवार को प्रदेश में पान मसाले की बिक्री और उत्पादन पर बैन लगाने का आदेश जारी कर दिया। सरकारी आदेश के अनुसार बिहार के लोगों के स्वास्थ्य के भलाई के उद्देश्य से अब पान मसाला के उत्पादन और बिक्री पर पूरी तरीके से रोक लगा दी गई है।

जिन ब्रांड के पान मसाला की जांच की गई उनमें रजनीगंधा पान मसाला, राज निवास पान मसाला, सुप्रीम पान पराग पान मसाला, पान पराग पान मसाला, बहार पान मसाला, बाहुबली पान मसाला, राजश्री पान मसाला, रौनक पान मसाला, सिग्नेचर पान मसाला, कमला पसंद पान मसाला, मधु पान मसाला शामिल हैं।

Desk
Social Activist
https://khabarilaal.com