देश

PM मोदी ने अपने करीबी अफसर नृपेंद्र मिश्र का इस्‍तीफा मंजूर किया, कहीं ये बातें…

डेस्क: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रधान सचिव नृपेंद्र मिश्रा के इस्तीफे की पेशकश को स्वीकार पर लिया गया है। वही पीके सिन्हा को प्रधानमंत्री कार्यालय में ओएसडी नियुक्त किया गया है। पीएम मोदी ने इस्तीफ़ा स्वीकार करने के बाद ट्वीट कर उनके जीवन के नये चरण के लिए शुभकामनाएं दीं हैं।

उन्होंने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा है, ‘अब श्री नृपेंद्र मिश्रा जी के सेवामुक्त होने के अनुरोध को स्वीकार कर लिया है। वे अपनी इच्छा के अनुरूप सितंबर के दूसरे हफ्ते से कार्यमुक्त हो जाएंगे। आगे के लिए उन्हें बहुत-बहुत शुभकामनाएं।’

एक अन्य ट्वीट में पीएम मोदी ने कहा कि ‘श्री नृपेंद्र मिश्रा उत्कृष्ट अधिकारियों में से एक हैं जिनकी सार्वजनिक नीति एवं प्रशासन पर गहरी समझ है। जब 2014 में दिल्ली में नया था तब उन्होंने मुझे ढेर सारी चीजें सिखायीं और उनका मार्गदर्शन सदैव बहुमूल्य रहेगा।’ उन्होंने कहा कि पांच सालों तक परिश्रमपूर्वक और कर्मठता से पीएमओ में अपनी सेवा देने। तथा भारत की विकास गाथा में अमिट योगदान करने के बाद मिश्रा अपने जीवन के नये चरण में कदम रख रहे है। ‘उनके भावी कदमों के लिए मेरी शुभकामनाएं।’

नृपेंद्र मिश्रा, उत्तरप्रदेश कैडर के 1967 बैच के आईएएस के अधिकारी हैं। 1945 में जन्मे मिश्रा ने हार्वर्ड यूनिवर्सिटी से पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन में एमए किया है। इलाहाबाद यूनिवर्सिटी से भी उन्होंने एमए की डिग्री ली है। नृपेंद्र मिश्र पहले भी कई मंत्रालयों के साथ ही महत्व के कई पद संभाल चुके हैं। मूलरूप से देवरिया के रहने वाले नृपेंद्र मिश्रा की छवि तेज तर्रार और ईमानदार आईएएस अफसर की रही है। वह यूपी के मुख्य सचिव भी रह चुके हैं। मुलायम सिंह यादव और कल्याण सिंह जैसे नेताओं से भी उनकी करीबी रही है।

Desk
Social Activist
https://khabarilaal.com