बिहार राज्य

दरोगा बहाली: क्या बिहार सरकार महिलाओं के लिए आरक्षित 35 प्रतिशत पदों को दूसरे राज्यों की महिलाओं से भरना चाहती है ?

डेस्क: बिहार में दारोगा बहाली के लिए महिलाओं की हाइट कम से कम 160 सेमी होनी आवाश्यक है। वहीं पुरुषों (सामान्य और ओबीसी) के लिए 165 सेमी लंबाई चाहिए। अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति को छूट देते हुए न्यूनतम 160 सेमी ऊंचाई आवश्यक है। बिहार की महिलाओं कि हाइट कई अन्य राज्य के महिलाओं की हाइट से कम होती है। लेकिन दरोगा बहाली के लिए अन्य राज्यों से ज्यादा हाइट जरुरी कर दिया गया है। जिसके कारण बहुत सारी पात्र महिलाएं इसके लिए आवेदन नहीं कर पाएंगी।

इसको लेकर कई महिलाएं आवाज उठाती रही है। अब इस ममाले में उनको बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री और नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव का साथ मिल गया है। उन्होंने मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर दरोगा बहाली के लिए महिलाओं की हाइट 155 सेमी करने का आग्रह किया है।

नेता प्रतिपक्ष ने अपने पत्र में लिखा है, बिहार पुलिस अवर सेवा आयोग द्वारा दारोगा के 2064 पदों पर नियुक्ति हेतु विज्ञापन प्रकाशित किया गया है। उक्त नियुक्ति हेतु महिलाओं की शारीरिक लम्बाई की न्यूनतम अर्हता 160 से०मी0 निर्धारित की गई है, जबकि हरियाणा, पंजाब सहित देश के सभी राज्यों में महिलाओं की न्यूनतम लम्बाई 155-157 से०मी० ही है। विदित हो कि उत्तर-पूर्व के राज्यों को छोड़ देश के अन्य अधिकतर राज्यों की महिलाओं की औसत लम्बाई से बिहार की महिलाओं की औसत लम्बाई कम ही है। इस तरह कई सुयोग्य मेधावी महिलाएँ नियुक्ति प्रक्रिया में सम्मिलित होने से वंचित हो जाएगी। ऐसे में महिलाओं के लिए 35 प्रतिशत आरक्षित पर्दों को कैसे भरा जा सकेगा? क्‍या यह पद दूसरे राज्यों की महिलाओं से भरा जाएगा ? या फिर महिलाओं के लिए आरक्षित पर्दों को रिक्त ही छोड़ दिया जाएगा।’

बता दें कि हरियाणा जैसे राज्य जहां बिहार के मुकाबले महिलाओं की हाइट अधिक होती है वहां दारोगा बहाली में महिलाओं की हाइट 158 सेंटीमीटर चाहिए जबकि उत्तर प्रदेश में 152 सेंटीमीटर की मानक है। लेकिन बिहार में महिलाओं के लिए 160 सेमी की ऊंचाई उनके साथ अन्याय नहीं तो और क्या है ?

Desk
Social Activist
https://khabarilaal.com