आभासी दुनिया देश राजनीती विदेश

प्रिय शरणार्थियों कृपया ध्यान दें, वहाँ पाकिस्तानी तुम्हारी लड़कियों और औरतों का बलात्कार करते हैं, यहाँ आओगे तो हिंदुस्तानी मर्द भी वही करेंगे !

कोई उन बॉर्डर पर रह रहें हिंदू-शरणार्थियों को बताओ जो CAB लागु होने कि ख़ुशी मना रहें भारत का भी हाल बुरा है.

वहाँ पाकिस्तानी तुम्हारी लड़कियों और औरतों का बलात्कार करते हैं, यहाँ आओगे तो हिंदुस्तानी मर्द भी वही करेंगे.

वहाँ तुम्हें खाने को मुश्किल है, यहाँ भी नौकरियाँ नहीं है और खाने के लाले ही पड़े है.

तुम वहाँ भी ग़रीब हो यहाँ भी ग़रीब ही रहोगे.

तुम्हारी वहाँ भी कोई नहीं सुन रहा यहाँ भी कोई नहीं सुनेगा. बताऊँ ऐसा क्यों बोल रही?

क्योंकि यही देख रही हूँ. एकदम ताज़ा-ताज़ा उदाहरण दे रही हूँ. देखो बिहार के 43 मज़दूर आग में जो कर दिल्ली में मर गए. किसी नेता के मुँह से एक वर्ड नहीं निकला. जानते हो हो क्यों, क्योंकि वो ग़रीब थे.

बेटा तुम भी ग़रीब हो. ग़रीबों का इस्तेमाल सिर्फ़ लोग अपने मतलब के लिए करते हैं. तुम्हें यहाँ वोट-बैंक के लिए लाया जा रहा. तुम कोई सगे नहीं हो मोदी जी या अमित शाह के.

जो भारत में ग़रीब हैं, उनकी रोटी-कपड़ा और मकान की समस्या तो भाजपा सुलझा न पाई. तुम्हें क्या ख़ाक ज़िंदगी देंगे ये.

तुम्हें आना है तुम शौक़ से आप लेकिन प्लीज़ ये मन में ख़ुशियों वाले लड्डू फ़ुटवाते हुए नहीं आना. किसी को तुम्हारी नहीं पड़ी है.

अरे जो वोटर हैं भाजपा के, जिन्होंने उनको चुना है उसे तो ढंग की स्वास्थ्य सुविधा, स्कूल और कॉलेज तो मिल न रहा तुमको क्या मिलेगा?

जानते भी हो यहाँ एजुकेशन कितना महँगा हो चला है. जो सस्ते कॉलेज थे उनकी भी फ़ी बढ़ाई जा रही. स्कूल जो सरकार कि तरफ़ से चल रहें उसमें एक लीटर दूध में पानी मिला कर अस्सी बच्चों को पिलाया जा रहा. मिड डे मिल में बच्चों को मरा हुआ चूहा परोसा जा रहा.

और सुनना है?

अगर तुम्हारी बेटियों का बलात्कार कोई नेता या रसूख़ वाला बंदा किया तो बेटी तुम्हारी ही चरित्रहीन बता दी जाएगी. ज़्यादा बोली तो ज़िंदा जला दी जाएगी.

बीमार हुए और पैसा न हुआ फिर मर गए तो लाश को घर ताक कंधे पर टांग कर लाना होगा.

अगर झारखंड या बिहार में बसे तब अन्न के लाले पड़ेंगे. अभी कुछ महीने पहले ही एक औरत भूख से मरी है. वैसे और भी लोग मर रहें. तुम्हारा हश्र भी वही होना है. मेरी बातें कड़वी लगेंगी मगर बॉस सच यही है.

जब तक हर-हर मोदी और जय अमित शाह करोगे ठीक है, जैसे ही उनके ख़िलाफ़ कुछ भी बोलोगे उनके भक्तों की टीम इज़्ज़त उतारने पर आमादा हो जाएगी. तुम सवाल करोगे तो तुम्हें चुप करवा दिया जाएगा.

अब आना है तो आओ मगर मुंगेरी लाल के हसीन सपने ले कर न आओ. तुम्हें वहाँ कैम्प में भी लूटा जा रहा तुम यहाँ भी लुटोगे ही. ग़रीब सिर्फ़ शोषण करवाने के लिए पैदा होता, ठीक न.

हाँ, सिर्फ़ एक चीज़ जो तुम्हें यहाँ मुफ़्त में मिलेगी वो रहेगा इंटरनेट. अब ये तुम पर डिपेंड करता है कि तुम उसको पॉर्न देखने, नेहरू की नंगी औरतों की साथ वाली तस्वीर या कांग्रेस ने भारत को दो टुकड़ों में कैसे बाँटा ये पढ़ने में इस्तेमाल करोगे.

बरहाल तो तुम्हारे मुँह में माइक घुसा कर तुम्हारी आंसुओं से टीआरपी बटोरने में मीडिया लगी है लेकिन कल को जब मुसीबत में होगे, कोई देखने वाला नहीं होगा.

वेल्कम टू द अनधर डेंजर ज़ोन!

#BeingLogical #CABBIll2019

आलेख: स्वतंत्र स्तंभकार अनु रॉय जी के फेसबुक टाइमलाइन से साभार

Desk
Social Activist
https://khabarilaal.com