Breaking News देश नई दिल्ली राजनीती

केजरीवाल VS निर्भया की मां: कीर्ति आजाद ने क्यों फैलाया झूठ ?

डेस्क: दिल्ली विधानसभा चुनाव में निर्भया की मां आशा देवी नई दिल्ली सीट से मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के खिलाफ उतर सकती है। कई मीडिया रिपोर्ट्स में इस बात का दावा किया गया है कि वो कांग्रेस की टिकट पर केजरीवाल को चुनौती दे सकती है।

दिल्ली प्रदेश के कांग्रेस के प्रचार समिति के प्रमुख कीर्ति आजाद के एक ट्वीट ने इस दावे को मजबूत कर दिया है। कीर्ति आजाद ने एक ट्वीट के रीट्वीट करते हुए कहा था कि ऐ मां तुझे सलाम, आशा देवी जी आपका स्वागत है।

हालांकि, निर्भया की मां आशा देवी ने किसी भी दल में शामिल होने से इंकार किया है। उन्होंने कहा कि मेरा किसी भी राजनीतिक दल में जाने का कोई इरादा नहीं है। साथ ही कहा कि उनकी किसी भी दल से कोई बात भी नहीं हुई है। उन्होंने कहा कि मैं सिर्फ बेटी के न्याय के लिए लड़ रही हूं। आगे भी लड़ती रहूंगी।

निर्भया की मां का बयान आने के बाद दिल्ली प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सुभाष चोपड़ा भी मीडिया के सामने आये। सुभाष चोपड़ा ने कहा कि उन्होंने कुछ मीडिया रिपोर्ट को देखा है कि वह कांग्रेस के टिकट पर केजरीवाल के खिलाफ चुनाव लड़ेंगी। सुभाष चोपड़ा ने स्पष्ट किया कि निर्भया की मां के संबंध में चल रही खबरें गलत हैं हालांकि अगर वह कांग्रेस में शामिल होना चाहती हैं तो उनका स्वागत है।

गौरतलब है कि निर्भया के साथ दरिंदगी के बाद कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने आशा देवी की सहायता की थी। राहुल गांधी निर्भया के परिवार के साथ संपर्क में रहे हैं। अटकलें यह भी हैं कि कांग्रेस नई दिल्ली से पूर्व सीएम शीला दीक्षित की बेटी लतिका को उतार सकती है तो बीजेपी पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज की बेटी बांसुरी को उम्मीदवार बना सकती है।

बता दें कि अरविंद केजरीवाल नई दिल्ली सीट से ही चुनकर विधानसभा पहुंचे थे। उन्होंने पूर्व सीएम शीला दीक्षित को हराया था।

Desk
Social Activist
https://khabarilaal.com