Breaking News आभासी दुनिया देश राजनीती राज्य

नीतीश कुमार पर तेजस्वी का फ़ेयर एंड लवली और हाई-रेज़लूशन फ़िल्टर वार ! पढ़ें रिपोर्ट

डेस्क: बिहार सरकार आगामी 19 जनवरी को जल-जीवन-हरियाली, नशामुक्ति, दहेज व बाल विवाह उन्मूलन के समर्थन में राज्यव्यापी मानव शृंखला बनवा रही है। जिसकी फोटग्राफी-वीडियोग्राफी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के निर्देश पर यह कार्य हेलीकाप्टर से कराने का निर्णय लिया गया है। इस कार्य के लिए 15 हेलीकॉप्टर का उपयोग किया जाएगा।

सरकार के इस फैसले का सोशल मीडिया पर आलोचना हो रही है। आमलोगों के साथ-साथ वीपक्ष के नेता भी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को घेर रहे हैं।

बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष और पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा है, “सामाजिक, राजनीतिक भ्रष्टाचार के भीष्म पितामह के दाग़दार चेहरे पर हाई-रेज़लूशन फ़िल्टर लगाकर फ़ेस चमकाने वास्ते 15 हेलिकॉप्टरों में मुंबई से फ़ोटोग्राफ़र बुलाए जा रहे है।

सिपाही परीक्षा रद्द की गयी, शिक्षकों को वेतन नहीं लेकिन मानव शृंखला की नौटंकी पर पानी की तरह बहाया जा रहा है।”

एक अन्य ट्वीट में राजद नेता ने लिखा है, “याद किजीए बिहार में आयी बाढ़ और भ्रष्टाचार जनित पटना के जल जमाव को। लोग त्राहिमाम कर रहे थे।

राहत के लिए एक हेलिकॉप्टर तक नीतीश सरकार के पास नहीं था लेकिन करोड़ों रुपए वाली सरकारी फ़ेयर एंड लवली से चेहरा चमकाने वास्ते 15 हेलिकॉप्टर और मुंबई से फ़ोटोग्राफ़र बुलाए जा रहे है।”

इससे पहले जन अधिकार पार्टी के अध्यक्ष और मधेपुरा के पूर्व सांसद पप्पू यादव भी इसको लेकर सवाल खड़े किए थे। शुक्रवार को उन्होंने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा था, “क्या नीतीश जी पटना जलजमाव में डूबा था तो लोगों को बचाने के लिए आपके पास एक चॉपर नहीं था!आपके स्टेपनी डिप्टी सीएम तीन दिन तक फंसे रहे,बिहार की गौरव शारदा सिन्हा जी त्राहिमाम करती रही,एक अदद हेलीकॉप्टर नहीं था। आज मानव श्रृंखला की वीडियोग्राफी के लिए 15 हेलिकॉप्टर! बेशर्म कहीं के!”

गौरतलब हो कि वर्ष 2017 में नामशुक्ति और 2018 में बाल विवाह व दहेज उन्मूलन के पक्ष में बनी बिहार की मानव शृंखलाओं ने विश्व रेकार्ड बनाया था।

Desk
Social Activist
https://khabarilaal.com