Breaking News बिहार राज्य

गया: मानव श्रृंखला के विरोध में यूथ बिग्रेड ने बनाया बेरोजगारों की श्रंखला

डेस्क:बिहार में जल-जीवन-हरियाली, नशामुक्ति, बाल विवाह एवं दहेज प्रथा उन्मूलन के खिलाफ रविवार को विश्व की सबसे बड़ी मानव श्रृंखला बनाई गई। तकरीबन 4.25 करोड़ लोगों की भागीदारी के साथ 16 हजार किमी से अधिक लंबी कतार बनाकर बिहार ने विश्व कीर्तिमान स्थापित किया है।

विपक्षी दल समेत कई संगठन सरकार के इस कार्यक्रम का विरोध कर रहे थे। गया टिकारी प्रखंड के पंचानपुर में युवाओं ने बेरोजगारों की श्रृंखला बनाकर नीतीश कुमार का विरोध जताया। इस दौरान नेशनल यूथ ब्रिगेड के अध्यक्ष रौशन गहलौत ने कहा कि मानव श्रृंखला बनाने से शराब और देहज बन्द नही हुआ तो श्रृंखला बनाने से जल जीवन हरियाली कैसे आएगी ?

एक अन्य युवा ने कहा कि बिहार के युवाओं को नजरअंदाज किया जा रहा है। बिहार पुलिस की परीक्षा स्थगित कर दिया गया , BSSC के रिजल्ट घोषित नही किया गया और छात्रों को प्रदर्शन करने पर पीटा जा रहा है, मुदकमे दर्ज किया जा रहा है, आखिर कब तक  बिहार का युवा पलायन का दर्द सहता रहेगा। इस प्रदर्शन प्रभंजन गहलौत, कुंदन कुशवाहा, राजीव, आनन्द, राहुल,मुकेश, इंदल शशि,आदि शामिल थे।

बता दें कि इससे पहले 2017 में शराबबंदी अभियान को सफल बनाने के लिए बिहार में 11292 किमी लंबी मानव श्रृंखला बनाई गई थी, जिसके रिकार्ड को बिहार वासियों ने दहेज प्रथा एवं बाल विवाह के खिलाफ 13654 किमी लंबी मानव श्रृंखला बनाकर तोड़ा था। एकबार फिर बिहार ने लगभग 16 हजार किलोमीटर का मानव श्रृंखला बनाकर अपना ही रेकॉर्ड तोड़ा है।

Desk
Social Activist
https://khabarilaal.com