Breaking News राजनीती राज्य

बड़ी खबर: बीजेपी विधयाक का इस्तीफा, कहा- सरकार हमारी बात नहीं सुनती है

डेस्क: गुजरात के सावली से भारतीय जनता पार्टी (BJP) के विधायक केतन भाई इनामदार ने इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने अपना इस्तीफा विधानसभा अध्यक्ष को सौंपा। केतन भाई इनामदार ने इस्तीफे के लिए गुजरात के रूपाणी सरकार को जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंने कहा कि हमारी बात इस सरकार में नहीं सुनी जाती।

वडोदरा जिले की सावली विधानसभा से चुने गए विधायक केतन इनामदार ने विधानसभा अध्‍यक्ष राजेंद्र त्रिवेदी को भेजे गए अपने इस्तीफे में कहा कि सरकार व प्रशासन में संकलन का अभाव है। मंत्री व अधिकारी उनके क्षेत्र के विकास व जनता के कार्यों को लेकर उदासीन हैं। उनकी सिफारिश के बावजूद उनकी व उनके कामों की उपेक्षा की जाती रही है। इनामदार ने यह भी कहा कि जनप्रतिनिधि के रूप में उनका सम्‍मान नहीं रखा जाता है।

केतन इनामदार के इस्तीफे से बीजेपी अब 103 सीट से 102 सीट पर आ गई है। अप्रैल में राज्यसभा चुनाव होना है और चुनाव से पहले इस इस्तीफे को बीजेपी के लिए एक बड़ा झटका माना जा रहा है।

विधायक के इस्‍तीफे के बाद एक बार फिर प्रदेश की राजनीति गरमा गई है। गुजरात कांग्रेस के प्रभारी राजीव सातव ने ट्वीट कर कहा कि गुजरात में बीजेपी सरकार से न सिर्फ गुजरात की जनता बल्कि उसके खुद के विधायक इस स्तर तक नाराज हैं कि सावली से विधायक केतन इनामदार ने अपना इस्तीफा दे दिया. सुशासन वाली बीजेपी सरकार जो अपने विधायकों की नहीं सुन रही है और उनकी मांगों को अनदेखा कर रही है, वो जनता की परेशानी क्या हल करेगी?

वहीं, भाजपा भरत भाई पंड्या ने मीडिया के माध्‍यम से इस्‍तीफे जानकारी मिलने की बात कही है। पंड्या ने कहा कि सरकार व प्रशासन में कौन अधिकारी उनके कामों की उपेक्षा कर रहे हैं, इसकी जानकारी ली जाएगी। उन्‍होंने उम्‍मीद जताई कि इनामदार पहले की तरह भाजपा के समर्पित व निष्‍ठावान कार्यकर्ता की तरह जनसेवा के काम करते रहेंगे। पंड्या ने कहा कि कांग्रेस विधायक के इस्‍तीफे से उत्‍साह में नहीं आए, सरकार व संगठन में सब ठीक है।

Desk
Social Activist
https://khabarilaal.com