Breaking News देश राजनीती

चुनौती: ‘आजादी’ के नारे लगाता रहूंगा, योगी चाहें तो दर्ज कर सकते हैं देशद्रोह का केस: कांग्रेस अध्यक्ष

डेस्क: संशोधित नागरिकता कानून (CAA ) को लेकर विपक्षी पार्टियां समेत कई संगठन देश भर में विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। धरना-प्रदर्शन के दौरान आज़ादी के नारे लगाना आम बात हो गई यही। इसके साथ-साथ केरल, पंजाब समेत कई राज्य इसके खिलाफ प्रस्ताव पास कर चुके हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक आज पश्चिम बंगाल की ममता सरकार भी इसके खिलाफ विधानसभा में प्रस्ताव लाएगी।

पिछले दिनों साकेतनगर स्थित मैदान में CAA के समर्थन में आयोजित एक रैली को संबोधित करते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा था, ‘अगर किसी ने प्रदर्शन के नाम पर आजादी के नारे लगाए, इसे देशद्रोह की तरह माना जाएगा और सरकार सख्‍त कार्रवाई करेगी। यह स्‍वीकार नहीं किया जा सकता। लोगों को भारत की मिट्टी से ही भारत के खिलाफ साजिश करने की इजाजत नहीं दी जा सकती।’

कांग्रेस ने योगी के बयान पर तीखी प्रतिक्रिया दी है। राज्य के कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने रविवार को कहा कि वह ‘आजादी’ के नारे लगाते रहेंगे। लल्लू ने कहा, ‘मैं भूख और भ्रष्टाचार से आजादी का नारा बुलंद करूंगा। अगर मुख्यमंत्री चाहें तो मेरे खिलाफ देशद्रोह का मामला दर्ज कर सकते हैं।’

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार उनके खिलाफ मामला दर्ज करने के लिए स्वतंत्र है, लेकिन वह किसानों और महिलाओं के सामने आने वाली समस्याओं से आजादी के लिए प्रयास जारी रखेंगे। लल्लू ने संशोधित नागरिकता अधिनियम (CAA) को भी असंवैधानिक करार देते हुए कहा कि यह संविधान के अनुच्छेद 14, 16 और 21 के खिलाफ है।

बता दें कि CAA भारत में पिछले साल दिसंबर में लागू किया गया था जिसे लेकर देशभर में विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं। भारत सरकार का कहना है कि नया कानून किसी की नागरिकता नहीं छीनता है बल्कि इसे पड़ोसी देशों में उत्पीड़न का शिकार हुए अल्पसंख्यकों की रक्षा करने और उन्हें नागरिकता देने के लिए लाया गया है।

 

Desk
Social Activist
https://khabarilaal.com