Breaking News बिहार राजनीती राज्य

PK खुद छोड़ रहे हैं JDU या की जा रही है उनकी छुट्टी? जानिए…

डेस्क: चुनावी साल में जेडीयू का आतंरिक कलह उभर कर सामने आ गया है। प्रशांत किशोर और पवन वर्मा लगातरा पार्टी लाइन से अलग बयान दे रहे हैं। बिहार के मुख्यमंत्री और जदयू अध्यक्ष नीतीश कुमार बयानबाजी को लेकर सख्त सन्देश भी दे चुके हैं। इस बीच खबर आ रही है कि 28 जनवरी को पटना के एक अणे मार्ग स्थित सीएम आवास पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार समेत जेडीयू के तमाम दिग्गज नेताओं की होनेवाली बैठक में चुनावी रणनीतिकार और पार्टी उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर नहीं आ रहे हैं। हालांकि इस बात की पुष्टि पार्टी या प्रशांत किशोर किसी ने नहीं की है।

राजनीतिक हलकों में इस बात की चर्चा है कि बीते दिनों प्रशांत किशोर द्वारा की गई कुछ टिप्पणियों से न सिर्फ पार्टी असहज महसूस कर रही है, बल्कि स्वयं नीतीश कुमार भी कई बार दुविधाजनक स्थिति झेल चुके हैं। ऐसे में प्रशांत किशोर का बैठक से बाहर रहना जेडीयू और बिहार की राजनीति के लिए अहम बात होगी।

बता दें कि इससे पहले जेडीयू ने जब हाल में दिल्ली के विधानसभा चुनाव में स्टार प्रचारकों की लिस्ट जारी की थी तो प्रशांत किशोर और पवन वर्मा को इसमें जगह नहीं दी गई। जबकि कुछ महीने पहले तक इन दोनों ही नेताओं की पार्टी में बड़ी पूछ रही है। प्रशांत किशोर को तो पार्टी में नंबर दो तक कहा जाने लगा था।

Image result for prashant kishor nitish kumar

वहीं बीते 22 और 23 जनवरी को राजगीर में जेडीयू का दो दिन का प्रशिक्षण शिविर आयोजित किया गया, लेकिन उसमें भी उनका अता-पता नहीं रहा. जबकि पिछली बार प्रशांत किशोर ने पार्टी वर्करों को प्रशिक्षित किया था।

इन घटनाक्रमों के बाद कुछ राजनितिक जानकार तो यहां तक कह रहे हैं कि खुद पीके अब जेडीयू में नहीं रहना चाहते हैं। बहरहाल पार्टी में प्रशांत किशोर का क्या भविष्य होगा ये तो आने वाला समय ही बताएगा।