Breaking News उत्तरप्रदेश देश

जय हो ! बिहार का एक और बेटा बना राम मंदिर ट्रस्ट का मेंबर, मिथिला निवासी अनुज झा को मिली यह ख़ास जिम्मेदारी

डेस्क: अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए नवगठित ‘राम मंदिर तीर्थ क्षेत्र’ ट्रस्ट की पहली बैठक बुधवार को दिल्ली में हुई। इस अहम बैठक में महंत नृत्यगोपाल दास को ट्रस्ट का अध्यक्ष और चंपत राय को महासचिव बनाया गया है। नृपेंद्र मिश्रा को भवन निर्माण समिति का चेयरमैन नियुक्त किया गया है। 15 दिन बाद अयोध्या में होने वाली बैठक में निर्माण समिति अपनी रिपोर्ट रखेगी और इसके बाद मंदिर निर्माण की तारीख पर फैसला लिया जाएगा।

वहीं बिहार के रहनेवाले आईएएस अधिकारी अनुज कुमार को यूपी सरकार के प्रतिनिधि के रूप में पदेन ट्रस्टी बनाया गया है। अनुज कुमार वर्तमान में अयोध्या के जिलाधिकारी हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक उत्तर प्रदेश के प्रतिनिधि के रूप में दो आईएएस अफसरों को श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट शामिल किया है। इनमें बिहार के मधुबनी निवासी अयोध्या के जिलाधिकारी अनुज कुमार झा को भी नामित पदेन सदस्य बनाया गया है। मालूम हो कि अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के समय से ही अनुज कुमार झा अयोध्या के जिलाधिकारी हैं। उत्तर प्रदेश शासन के पत्र के मुताबिक, यदि अयोध्या के जिलाधिकारी कोई हिंदू धर्म को माननेवाले नहीं बनते हैं, तो ऐसी स्थिति में अपर जिलाधिकारी पदेन सदस्य होंगे।

बिहार के मधुबनी में पांच नवंबर, 1981 को जन्मे अनुज झा की गिनती तेज-तर्रार आईएएस अफसर के रूप में की जाती है। वह 2009 बैच के आइएएस अधिकारी हैं। अनुज झा ने पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन में एमए किया है।वह, महोबा, कन्नौज, रायबरेली, बुलंदशहर जिलों में जिलाधिकारी रहे हैं। उसके बाद 15 फरवरी, 2009 को अयोध्या का जिलाधिकारी बनाया गया था। उसके बाद से वह अब तक तैनात हैं.

मालूम हो कि इससे पहले श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के ट्रस्टी के दलित सदस्य के रूप में बिहार के बीजेपी के हार्डकोर सदस्य रहे कामेश्वर चौपाल को नियुक्त किया था। रोटी के साथ राम का नारा देने वाले चौपाल ने ही 9 नवंबर 1989 को राम मंदिर निर्माण के लिए हुए शिलान्यास कार्यक्रम में पहली ईंट रखी थी। उस समय वह पूरे देश में चर्चा कें केंद्र में थे। कामेश्वर चौपाल भी मिथिला के सुपौल जिले के मरौना गांव के मूल निवासी हैं। इस तरह राम मंदिर तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट में उत्तर बिहार (मिथिला) के दो सदस्य हो गए हैं।