बिहार राज्य शिक्षा

दरभंगा पब्लिक स्कूल में वार्षिकोत्सव का हुआ धूमधाम से आयोजन

डेस्क: दिल्ली मोड़ स्थित दरभंगा पब्लिक स्कूल के वार्षिकोत्सव का उद्घाटन करते हुए विधायक संजय सरावगी ने कहा कि अगर अभिभावक और शिक्षक बच्चों को बिना दबाव के सिखाएं तो वे निश्चित सीखेंगे। उन्होंने विद्यालय को मिथिलांचल में अपनी गौरवमयी पहचान बनाने के लिए स्कूल प्रबंधन, शिक्षकों एवं छात्रों को बधाई देते हुए कहा कि एक शिक्षित राष्ट्र ही मजबूत और खुशहाल राष्ट्र हो सकता है। वार्षिकोत्सव वर्ष भर के मेहनत के बाद मनाया जाने वाला आनन्दोत्सव है जहां बच्चां की सांस्कृतिक प्रतिभा का सम्यक प्रदर्शन होता है।

अतिथियों का स्वागत करते हुए विद्यालय के प्राचार्य डा0 एम0 के0 मिश्रा ने विद्यालय की गत वर्ष की उपलब्धियों का ब्यौरा दिया। उन्होंने अन्तर विद्यालय प्रतियोगिताओं में दरभंगा पब्लिक स्कूल के छात्रों के बेहतर प्रदर्शन, दसवीं एवं बारहवीं के छात्रों के लगातार जिले की शीर्ष सूची में शामिल होने और विद्यालय को नीति आयोग द्वारा अटल इनोवेशन लैब के लिए चयन किये जाने का उल्लेख किया।

स्कूल के चेयरमैन डा0 लाल मोहन झा ने कहा कि भविष्य की चुनौतियों को ध्यान में रखते हुए विद्यालय छात्रों को ज्ञान अर्जित करने के साथ एक ज्ञान अनुरागी व्यक्तित्व बनाने पर जोर दे रहा है। स्कूल प्रबंधन से विशाल गौरव ने विद्यालय के अगले तीन वर्षों की योजनाओं को विस्तार से बताया।

इस अवसर पर छात्र-छात्राओं द्वारा प्रस्तुत नृत्य, गायन, नाटक, कव्वाली आदि ने ढ़ाई हजार की संख्या में उपस्थित अभिभावकों का दिल जीत लिया और उन्हें बार-बार ताली बजाने पर विवश कर दिया। जहां शिक्षिका कुमारी चंदना द्वारा निर्देशित कत्थक फ्यूजन में ईशा, मनीषा, राधिका और निष्ठा ने दर्शकों को झूमने पर मजबूर कर दिया वहीं रामायण के आधुनिक नृत्य अवतार में हंसराज, केशव और तृप्ति की भूमिका सराहनीय रही। गायन में आयुष, अनुभव और स्वाति ने वाहवाही बटोरी।

1983 की इंडिया वर्ल्ड कप जीत को नृत्य के रूप पर कृष और आयुषी की टीम ने मंचित किया। मोबाइल की लत् पर आधारित कार्यक्रम में दिव्यांजलि और खुशबू की मुख्य भूमिका रही। जहां अंग्रेजी नाटक में अहाना और ईशा ने पर्यावरण बचाने का संदेश दिया वहीं आंतरिक सुन्दरता पर आधारित अंग्रेजी गीत को रम्या, माहीन आदि ने सुरों से संवारा। हास्य मैथिली नाटक ’’बेढ़ब दुल्हा’’ ने लोगों को लोटपोट किया और डिम्पल सरस्वत निर्देशित इनोवेशन कार्यक्रमों को दर्शक हैरत से देखते रह गए।

कार्यक्रम के सफल मंचन में को-स्कोलेस्टिक हेड विनीत कुमार झा, उप प्राचार्य दिब्येंदु विश्वास, शैलेश मिश्रा, कुमारी चंदना, अनुपमा कुमारी, अमरनाथ मिश्रा, रीचा, गोपाल साहू आदि का योगदान रहा।

राकेश कुमार की रिपोर्ट

Desk
Social Activist
https://khabarilaal.com