देश बिहार राजनीती राज्य

कैसे बचाएंगे संविधान ? जब पटना की महारैली में खुद कन्हैया कुमार भूले राष्ट्रगान

डेस्क: JNU छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष और सीपीआई नेता कन्हैया कुमार की आज पटना में हुई ‘संविधान बचाओ, नागरिकता बचाओ’ महारैली में एक झोल हो गया।

दरअसल अपने भाषण की शुरुआत करने से पहले कन्हैया कुमार ने गांधी मैदान में मौजूद लोगों से खड़े होकर राष्ट्रगान गाने की अपील की और फिर राष्ट्रगान शुरू किया। राष्ट्रगान के अंतिम दो लाइन में कन्हैया कुमार ने “जन गण मंगल” के बदले “जन मन गण” गा दिया। अब सोशल मीडिया पर इसको लेकर विवाद शुरू हो गया है। लोग कन्हैया कुमार पर तंज कस रहे हैं।

इसके अलावा इस रैली के दौरान ऐसे कई मौके आए जब मंच पर मौजूद कन्हैया और रैली में शामिल होने आए अन्य नेताओं ने भाषा की मर्यादा का ख्याल नहीं रखा।

कन्हैया कुमार के भाषण से पहले एक विवाद तब हुआ, जब मंच पर करीब 10 साल का एक बच्चान देश के मौजूदा हालात पर कुछ पंक्तियां सुनाई और बाद में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विरोध में “नरेंद्र मोदी मुर्दाबाद” के नारे लगाने शुरू कर दिए। जिसके साथ अन्य लोगों ने भी नारे लगाए। बाद कन्हैया ने उस बच्चे को गोद में उठा कर गले लगते दिखे।

पटना विश्वविद्यालय छात्र संघ के नेता मनीष कुमार ने भी विवादित बयान दिया और कहा – एपीआर, सीएए और एनआरसी जैसे काले कानून के समर्थकों को गोलि’यों से भून देना चाहिए। बाद में मंच के नेताओं ने कहा- हम गांधीवादी, शांति और अहिंसा से लड़ेंगे लड़ाई।

कन्हैया की इस महारैली में तुषार गांधी, मेधा पाटकर, आइशी घोष ( जेएनयू छात्र संघ), अलका लांबा, कन्नन गोपीनाथन समेत नजीब की मां फातिमा नफीस व रोहित वेमुला की मां राधिका वेमुला भी मौजूद थीं।

Desk
Social Activist
https://khabarilaal.com