बिहार मनोरंजन राज्य

उपलब्धि: बिहार के बेटे का कमाल, उनकी ‘ललक’ ने अमेरिका में किया देश का नाम रौशन

डेस्क: बिहार में प्रतिभाओं की कमी नहीं है। अपने सीमित संसाधन और अभावों में भी यहां के युवा देश-विदेश में अपने प्रतिभा और लगन के बल पर राज्य का नाम रौशन कर रहे हैं। उन्हीं में एक नाम है नवादा जिले में राहुल वर्मा का। एक्टर-प्रोड्यूसर राहुल वर्मा द्वारा निर्मित फ़िल्म ललक ने अमेरिका (America) के वाशिंगटन में आयोजित होनेवाले सीन फ़िल्म फेस्टिवल (Film Festival) के लिए बेस्ट शॉर्ट फिल्म (Short Film) का अवार्ड अपने नाम किया है।

इस फिल्म फेस्टिवल के लिए भारत से दो फिल्मों का चयन किया गया था। अलग-अलग देशों से फिल्मों का चयन प्रदर्शन के लिए हुआ था। बेस्ट फिल्म के अवार्ड के लिए लाइव वोटिग की प्रक्रिया रखी गई थी। इस प्रतियोगिता में राहुल वर्मा की फिल्म ‘ललक’ को सबसे ज्यादा वोट मिले। 1500 वोटों के अंतर से राहुल ने बाजी मार ली और बेस्ट फिल्म का अवार्ड इंडिया की झोली में आ गया। इसी साल अक्टूबर में अमेरिका के वाशिंगटन में आयोजित होने वाले सिन फ़िल्म फेस्टिवल में उन्हें सम्मानित किया जाएगा।

फिल्म ‘ललक’ शिक्षा पर आधारित है। फिल्म के बारे में बताया कि एक बच्चे के पास काफी हुनर और टैलेंट है। उसे कुछ भी मिल जाए तो वह उसे कर लेता है, लेकिन उसके पास साधन नहीं होता है। कचरा उठाया करता था। उसमें कुछ करने की ललक थी और एक दिन उसकी पेंटिग विदेशों में छा गई। एक शख्स उसके जीवन में आया और उसकी पेंटिग की तस्वीर लेकर विदेश भेज दिया। जिसके बाद उसकी पेंटिग छा गई। उसकी पढ़ाई का खर्च अंतरराष्ट्रीय कंपनी देने लगी, जिसके बाद वह बड़ा अफसर बन जाता है।

राहुल वर्मा नवादा मोहल्ला निवासी अशोक कुमार वर्मा के पुत्र हैं। कई फिल्मों में अभिनय कर चुके हैं। राहुल के पिता अपने शुरुआती जीवन में कैसेट की छोटी-सी दुकान चलाते थे। फिलहाल, केबल ऑपरेटर हैं। माता रेखा वर्मा गृहिणी के साथ ही ब्यूटी पॉर्लर संचालक हैं।

अवार्ड जितने के बाद राहुल ने इसका श्रेय अपने माता-पिता एवं अपने चाहने वालों को दिया है।

Desk
Social Activist
https://khabarilaal.com