आभासी दुनिया देश

PM मोदी पर कन्हैया कुमार का “ध्यान भटकाओं योजना” चलाने का आरोप,कहा-‘GDP लगी गिरने तो TRP स्टंट लगे बढ़ने’

डेस्क: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यू-ट्यूब छोड़ने का विचार कर रह रहे हैं। उन्होंने सोमवार शाम को एक चौंकाने वाला ट्वीट कर इसकी जानकारी दी। पीएम मोदी के इस ट्वीट के बाद उनके समर्थक और उन्हें ऐसा नहीं करने की अपील कर रहे हैं, वहीं विपक्षर इस ट्वीट को लेकर पीएम मोदी पर तंज कस रहा है। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने पीएम मोदी को सोशल मीडिया छोड़ने के बजाय नफ़रत छोड़ने की सलाह दी है।

वहीं लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा, ‘सोशल मीडिया के हटने की बात कहना पीएम मोदी का ज्वलंत मुद्दों से ध्यान भटकाने की एक नई चाल है। ‘ कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा, पीएम मोदी की अचानक घोषणा से कई परेशान हैं कि क्या ये देशभर में इन सेवाओं को बंद करने की भूमिका है। वैसे पीएम मोदी को ख़ुद अच्छे से पता है कि सोशल मीडिया अच्छी, सकारात्मक और ज़रूरी संवाद का ज़रिया हो सकता है। इसका इस्तेमाल नफ़रत फैलाने के लिए नहीं होना चाहिए।’

JNU छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष और सीपीआई नेता कन्हैया कुमार ने कहा, जीडीपी लगी गिरने तो टीआरपी स्टंट लगे बढ़ाने। वहीं वहीं राजनीतिक टिप्पणीकार सुधींद्र कुलकर्णी ने भी पीएम मोदी के ट्वीट पर बड़ी आशंका जाहिर की है। उन्होंने लिखा- ‘ये अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पर बड़ा हमला हो सकता है।’ कुलकर्णी ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा है, ‘भारतीय लोगों के स्वतंत्रता और संचार पर एक बड़ा हमला। और अब क्या लोकतंत्र की बारी है। आने वाला समय बताएगा।’

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बाद ट्विटर पर सबसे ज्यादा फॉलो किए जाने वाले नेता हैं। ट्विटर पर पीएम मोदी के 5 करोड़ 33 लाख से फॉलोअर हैं, जबकि डोनाल्ड ट्रंप के 7 करोड़ा 32 लाख फॉलोअर हैं। इसी तरह पीएम मोदी के फेसबुक पेज पर 4 करोड़ 47 लाख 33 हजार 955 लाइक हैं, जबकि 4 करोड़ 46 लाख 10 हजार 232 फॉलोअर्स हैं। इसके अलावा पीएम मोदी को इंस्टाग्राम पर 3 करोड़ 52 लाख लोग फॉलो करते हैं। यूट्यूब पर उनके 45 लाख 10 हजार सब्सक्राइबर्स हैं।