बिहार राज्य शिक्षा

सी एम कॉलेज में 26 मार्च से प्रारंभ होगा 10 दिवसीय संस्कृत संभाषण शिविर

डेस्क: सी एम कॉलेज,दरभंगा में आगामी 26 मार्च से 4 अप्रैल,2020 के बीच 10 दिवसीय संस्कृत संभाषण शिविर का आयोजन किया जाएगा। इस उद्देश्य से आज प्रधानाचार्य डा मुश्ताक अहमद की अध्यक्षता में एक बैठक आयोजित की गई, जिसमें संस्कृत विभागाध्यक्ष डा आर एन चौरसिया,संस्कृत प्राध्यापक डा संजीत कुमार झा,डा रूपेंद्र झा,डा रीता दुबे, डा मीनाक्षी राणा,डा प्रीति त्रिपाठी, डा अखिलेश कुमार विभु, विपिन कुमार सिंह,डा अब्दुल हइ तथा प्रो ऐहतेशामुद्दीन आदि ने भाग लिया।


इस अवसर पर डा मुश्ताक अहमद ने कहा कि संस्कृत मानवीय मूल्यों की वाहक एवं भारतीय संस्कृति का मूल आधार है। किसी भी भाषा का प्रचार-प्रचार उसके अधिक से अधिक लोगों के बीच चलन से होता है। संस्कृत पहले जन-जन की भाषा थी जो अब सिर्फ जनपद की भाषा रह गई है। इसमें ज्ञान-विज्ञान का असीम खजाना है। संकुचित सोच से ऊपर उठकर संभाषण के माध्यम से इससे व्यापक बनाया जा सकता है।

संस्कृत विभागाध्यक्ष डा आर एन चौरसिया ने बताया कि शिविर में 50 से अधिक छात्र-छात्राएं भाग लेंगे, जिसके लिए विभाग में पंजीयन प्रारंभ किया गया है।
राष्ट्रीय संस्कृत संस्थान,नई दिल्ली द्वारा प्रायोजित तथा अनौपचारिक संस्कृत शिक्षण योजना,सी एम साइंस कॉलेज,दरभंगा के सहयोग से उक्त आयोजन किया जा रहा है।अनौपचारिक केंद्र के केंद्राधिकारी डा अशोक कुमार झा ने उक्त शिविर में पूर्ण सहयोग का आश्वासन दिया।

संभाषण शिविर के संयोजक डा संजीत कुमार झा ने बताया शिक्षिका के रूप में अंशु कुमारी शिविर में संस्कृत संभाषण का प्रशिक्षण देंगी। शिविर हेतु छात्रों का पंजीयन किया जा रहा है। इच्छुक छात्र संस्कृत विभाग आकर पंजीयन करा सकते हैं।

Desk
Social Activist
https://khabarilaal.com