देश

बिग ब्रेकिंग: कमलनाथ ने किया इस्तीफे का ऐलान, बोले- BJP याद रखे कल भी आएगा

डेस्क: मध्य प्रदेश के सीएम कमलनाथ ने शुक्रवार को फ्लोर टेस्ट से पहले प्रेस कॉन्फ्रेंस की। और कहा कि बीजेपी ने लोकतांत्रिक मूल्यों की ह’त्या की है। इसलिए मैंने यह फैसला लिया है कि राज्यपाल से मिलकर इस्तीफा दूंगा।’ इस दौरान उन्होंने बीजेपी पर कई गंभी’र आरोप लगाए। 2018 में राज्य विधानसभा का परिणाम आया था। परिणाम स्पष्ट था। हम राज्य की तस्वीर बदलना चाहते थे। मैं अपने राजनीतिक जीवन में हमेशा विकास में भरोसा किया। उन्होंने कहा कि बीजेपी याद रखे कि कल और परसो भी आएगा।

बीजेपी को 15 साल मिले थे। आज तक मुझे केवल 15 महीने मिले। ढाई महीने लोकसभा चुनाव और आचार संहिता में गुजरे। इन 15 महीनों मे राज्य का हर नागरिक गवाह है कि मैंने राज्य के लिए जनहितैषी कार्य किया। लेकिन बीजेपी को ये काम रास नहीं आए और उसने हमारे खिलाफ निरंतर काम किया। जब हमारी सरकार बनी थी तो बीजेपी के नेता कहते थे कि ये सरकार 15 दिन की सरकार है। पहले दिन से बीजेपी ने हमारे खिलाफ षडयंत्र शुरू कर दिया था।

Image result for kamal nath ka istifa

करोड़ों रुपये खर्च करके यह खेल खेला गया। बीजेपी ने 22 विधायकों को प्रलोभन देकर कर्नाटक में बंधक बनाने का काम किया। इसकी सच्चाई देश की जनता देख रही है। ये विश्वासाघात हमारे साथ नहीं मध्य प्रदेश की जनता के साथ हुआ है। 15 महीने में हमने प्रदेश को मा’फिया मुक्त किराया। बीजेपी नहीं चाहती थी कि हम ऐसा करे। 15 साल के बीजेपी के कार्यकाल में क्या हुआ था यह हर नागरिक जानता है।

श्रीलंका में माता सीता का मंदिर बनाने का फैसला किया, आदिवासियों के लिए काम किया। मुख्यमंत्री मदद योजना के तहत शादी के अवसर पर मदद का ऐलान किया। आदिवासी इलाकों में एकलव्य विद्यालय खोलने का काम किया, 15 महीनों में हमने 400 वचनों को पूरा किया लेकिन बीजेपी को यह सब रास नहीं आया।

बता दें कि प्रदेश में पिछले कई दिनों से जारी सियासी घमा’सान के बीच गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट में कई घंटों तक जोरदार बहस हुई। जिसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को मध्य प्रदेश विधान सभा के अध्यक्ष एनपी प्रजापति को निर्देश दिया कि शक्ति परीक्षण के लिए शुक्रवार को सदन का विशेष सत्र बुलाया जाए और यह प्रक्रिया शाम पांच बजे तक पूरी की जाए। कोर्ट ने अपने आदेश में यह भी कहा कि अगर बा’गी विधायक फ्लोर टेस्ट के लिए विधानसभा आने चाहते हैं तो कर्नाटक और मध्य प्रदेश के डीजीपी उनकी सुर’क्षा सुनिश्चित कराए। साथ ही, सुप्रीम कोर्ट ने पूरी कार्यवाही की वीडियो रिकॉर्डिंग कराने को भी कहा था।।

Desk
Social Activist
https://khabarilaal.com