देश

बड़ी खबर: कोरो’ना की मार से परेशान जनता को महंगाई गिफ्ट, सरकार ने पेट्रोल-डीजल पर चार प्रतिशत VAT बढ़ाया

डेस्क: कोरो’ना की मार से परेशान जनता को राजस्थान सरकार ने महंगाई गिफ्ट दिया है। राजस्थान की गहलोत सरकार ने रविवार से राज्य में पेट्रोल, डीजल पर वैट (VAT) 4 प्रतिशत बढ़ा दिया है। इस वृद्धि से राज्य में अब पेट्रोल, डीजल महंगें हो गये। राज्य सरकार ने शनिवार देर रात पेट्रोल पर वैट 30 प्रतिशत से बढ़ाकर 34 प्रतिशत और डीजल पर वैट 22 प्रतिशत से बढ़ाकर 26 प्रतिशत करने के आदेश जारी किये। वैट की कीमतों में वृद्धि के बाद पेट्रोल के दामों में करीब दो रुपये 80 पैसे की बढ़ोतरी हो गई है। वहीं, डीजल के दामों में करीब ढाई रुपये की बढ़ोतरी हुई है। जयपुर में पैट्रोल अब 75.57 रुपये प्रति लीटर और डीजल 69.26 रुपये प्रतिलीटर हो गया है।

बता देें कि राज्य सरकार ने इससे पूर्व पिछले वर्ष जुलाई में भी वैट दर में चार प्रतिशत की वृद्धि की थी। 6 जुलाई  2019 को अधिसूचना जारी कर पेट्रोल पर वैट 26 प्रतिशत से 30 प्रतिशत और डीजल पर 18 प्रतिशत से 22 प्रतिशत कर दिया था। अब इसमें चार प्रतिशत की और वृद्धि कर दी गई है। यानी मौजूद सरकार अपने करीब 15 महीने के कार्यकाल में पेट्रोल व डीजल में आठ प्रतिशत की बढ़ोतरी कर चुकी है। जिससे उपभोक्ताओं पर बोझ और बढ़ गया है।

अशोक गहलोत

सरकार के इस फैसले पर राजस्थान पेट्रोलियम डीलर्स ऐसोशिएशन के अध्यक्ष सुनीत बगई ने कहा कि वैट की कीमतों में हुई वृद्धि से पेट्रोल पंप डीलरों पर और बुरा प्रभाव पडेगा। बगई ने कहा कि वैट की कीमतों में वृद्धि से पडौसी राज्यों की सीमाओं से सटे पेट्रोल और डीजल पम्प बंद होने की कगार पर पहुंच जायेंगे। उन्होंने कहा कि यदि पड़ोसी राज्यों से पैट्रोल और डीजल की कीमतों का मूल्याकंन किया जाये तो राज्य में पैट्रोल और डीजल 5 से 10 रूपये तक महंगें हो गये हैं।

दूसरी तरफ कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार ने 31 मार्च तक लॉक डाउन कर दिया है। आवश्यक सेवाओं को छोड़कर सभी सरकारी कार्यलय, मॉल, सिनेमा हॉल, होटल, दुकानें, फैक्ट्री और अन्य प्रतिष्ठान अब 31 मार्च तक बंद रहेंगे।