Breaking News

कोरोना पर सुप्रीम कोर्ट की प्रतिक्रिया, कहा- मोदी सरकार की तैयारी अच्छी, आलोचक भी कर रहे तारीफ

डेस्क: सुप्रीम कोर्ट में सोमवार को कोरोना से जुड़ी एक याचिका पर सुनवाई हुई। याचिका में मांग उठी थी कि कोरोना से निपटने के लिए सरकार को और जरूरी कदम उठाने के लिए कहा जाए। कोविड 19 टेस्ट करनेवाली लैब को बढ़ाने की मांग भी की गई थी। सुनवाई के बाद कोर्ट ने कोरोना लैब टेस्टिंग सेंटर बढ़ाने की वाली याचिका सरकार को रेफर कर दिया है।

वहीं चीफ जस्टिस एस ए बोबडे की अध्यता वाली बेंच ने कहा, ‘हम सरकार के कदमों से संतुष्ट हैं। मामले से निपटने के लिए काफी तेजी से कदम उठाए गए। आलोचक भी मान रहे हैं कि सरकार ने ठीक काम किया। यह राजनीति नहीं तथ्य है।’ इस बेंच में जस्टिस एल एन राव और सूर्यकांत शामिल थे।

बता दें कि कोरोना वायरस के प्रकोप से भारत समेत पूरा विश्व जूझ रहा है। भारत में कोरोना के मरीजों की संख्या बढ़कर 387 हो गई है। इसी को देखते हुए दिल्ली, हरियाणा, राजस्थान, पंजाब, चंडीगढ़, आंध्र प्रदेश, झारखंड और बिहार समेत कई राज्यों में लॉकडाउन घोषित किया गया है।

कोरोना वायरस के बढ़ते खतरे को देखते हुए लोकसभा की कार्यवाही को भी अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया गया है। लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला ने इसकी घोषणा की। संसद का बजट सत्र 3 अप्रैल तक चलना था, लेकिन समय से पहले कार्यवाही को स्थगित कर दिया गया।

इससे पहले कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि देश की अभी जो स्थिति है ऐसे में लोग उम्मीद कर रहे हैं कि सरकार से वित्त सहयोग मिलेगा। हमारी मांग है कि सरकार इसपर अपना रुख साफ करे। अधीर रंजन ने कहा कि हिंदुस्तान में त्राहि-त्राहि मची हुई है। अभूतपूर्व स्थिति है। सब लोग उम्मीद कर रहे हैं कि सरकार की तरफ से वित्तीय सहयोग मिलेगा।