देश

मोदी जी’ लोगों को मुफ्त खाना पहुंचाने की व्यवस्था कीजिए, नहीं तो कोरोना के बजाय गरीब भूख से मरेंगे: पप्पू यादव

डेस्क: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वायरस को लेकर दूसरी बार मंगलवार को देश को संबोधित किया। पीएम मोदी ने कहा कि जनता कर्फ्यू की सफलता के लिए देश की जनता बधाई के पात्र हैं। पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि आज रात 12 यानी 24 मार्च (मंगलवार) बजे से देश के हर हिस्से में लॉकडॉउन किया यह लॉकडाउन 21 दिनों का होगा।जा रहा है। उन्होंने कहा कि ये एक तरह का कर्फ्यू ही है। यह जनता कर्फ्यू से ज्यादा सख्त होगा। कोरोना महामारी को रोकने के लिए यह लॉकडाउन जरूरी है।

उन्होंने कहा कि आज रात 12 बजे से पूरे देश में, ध्यान से सुनिएगा, पूरे देश में, आज रात 12 बजे से पूरे देश में, संपूर्ण लॉकडाउन होने जा रहा है। हिंदुस्तान को बचाने के लिए, हिंदुस्तान के हर नागरिक को बचाने के लिए आज रात 12 बजे से, घरों से बाहर निकलने पर, पूरी तरह पाबंदी लगाई जा रही है। देश के हर राज्य को, हर केंद्र शासित प्रदेश को, हर जिले, हर गांव, हर कस्बे, हर गली-मोहल्ले को अब लॉकडाउन किया जा रहा है।

प्रधानमंत्री के इस घोषणा के बाद राजनीतिक दल के नेताओं की प्रतिक्रिया आना शुरू हो गया है। मधेपुरा के पूर्व सांसद और जन अधिकार पार्टी के अध्यक्ष पप्पू यादव ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा है, ’21 दिन का लॉकडाउन! अब गरीबों, आम लोगों के घर मुफ्त खाना पहुंचाने की जिम्मेदारी किसकी? प्रधानमंत्री जी खाद्य सामग्री की आपूर्ति सुनिश्चित करने का रोडमैप घोषित कीजिए। अन्यथा, कोरोना के बजाय भूख से मरने की संभावना बहुत ज्यादा है!

बता दें कि भारत में कोरोना वायरस का संक्रमण लगातार बढ़ता जा रहा है। देशभर में अबतक इस वायरस से नौ लोगों की जान जा चुकी है। वहीं संक्रमित लोगों की संख्या 534 हो गई है। सरकारी आंकड़े के मुताबिक कोरोना वायरस के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए 30 राज्यों के 548 जिलों में लॉकडाउन घोषित कर दिया गया है। जबकि दिल्ली समेत चार राज्यों में कर्फ्यू लगा दिया गया है। रविवार को जनता कर्फ्यू के बाद सोमवार को लॉकडाउन की घोषणा की गई थी।