देश राजनीती

बड़ी खबर: 7 महीने बाद आज रिहा होंगे उमर अब्दुल्ला, जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने PSA हटाया

डेस्क: भारत मे कोरोना के बढ़ते प्रभाव के बीच जम्मू-कश्मीर से एक बड़ी खबर सामने आ रही है। जम्मू-कश्मीर के पूर्व सीएम फारूक अब्दुल्ला के बाद अब उनके बेटे उमर अब्दुल्ला पर से भी पीएसए हटा लिया गया है। बता दें कि उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती पर पांच फरवरी को पीएसए लगाया गया था। इस तरह फारूक अब्दुल्ला के बाद अब उमर अब्दुल्ला के रिहाई का रास्ता भी साफ हो गया है।

बता दें कि उमर को 5 अगस्त को ऐहतियात के तौर पर हिरासत में लिया गया था, जिसकी मियाद 2 फरवरी को खत्म हुई थी। इस अवधि के खत्म होने के पहले ही उमर पर पीएसए के तहत कार्रवाई की गई थी, जिसे उनकी बहन सारा पायलट ने सुप्रीम कोर्ट में चैलेंज किया था।

सारा ने सुप्रीम कोर्ट में इस ऐक्शन के खिलाफ एक अपील करते हुए इसे उमर के मौलिक अधिकारों का हनन बताया था। सारा ने याचिका में कहा है कि उमर के खिलाफ सरकार के पास कोई सबूत नहीं है और सरकार से असहमत होना हर नागरिक का अधिकार है।

सुनवाई के बाद सुप्रीम कोर्ट ने हाल ही में केंद्र सरकार से यह पूछा भी था कि क्या वह उमर को हिरासत से रिहा करने पर विचार कर रहा है। न्यायमूर्ति अरूण मिश्रा और न्यायमूर्ति एम आर शाह की पीठ ने केन्द्र की ओर से पेश अधिवक्ता से कहा कि अगर अब्दुल्ला को शीघ्र रिहा नहीं किया गया तो वह इस नजरबंदी के खिलाफ उनकी बहन सारा अब्दुल्ला पायलट की बंदीप्रत्यक्षीकरण याचिका पर सुनवाई करेगी।

सरकार के आदेश पर पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (PDP) ने कहा कि हम उमर अब्दुल्ला को नजरबंदी से रिहा करने का स्वागत करते हैं और सरकार से महबूबा मुफ्ती और उनके अन्य सभी राजनीतिक कैदियों को रिहा करने की अपील करते हैं।

बता दें कि पिछले साल 5 अगस्त को केंद्र ने जम्मू-कश्मीर से विशेष राज्य का दर्जा हटा दिया था और राज्य को लद्दाख और कश्मीर के रूप मेंं राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेश में बांट दिया था। जिसके बाद यह कार्यवाई की गई थी।