बिहार राज्य

कोरो’ना के कह’र के बीच बिहार सरकार ने किसानों के लिए खोला खजाना

डेस्क: पिछले दिनों असमय हुई वर्षा और ओलावृष्टि के कारण बिहार में रवि फसल (गेहूं, दलहन,तेलहन) का भारी नुकसान हुआ था। अब इसके लिए नीतीश सरकार ने अपना खजाना खोल दिया है। बिहार सरकार द्वारा किसानों को मुआवजा राशि मुहैया कराने के लिए 518.42 करोड़ पर की राशि स्वीकृत की है।

मंगलवार को सीएम नीतीश कुमार की अध्यक्षता में एक अने मार्ग में एक बैठक हुई जिसमें फसल क्षति के संबंध में समीक्षा की गई थी। मुख्यमंत्री ने विभाग के सचिव को निर्देश देते हुए कहा कि स्वीकृत राशि को अविलंब प्रभावित किसानों के खाते में ट्रांसफर किए जाएं।

ज्ञात हो कि मार्च महीने की शुरूआत में बिहार में असामयिक वर्षा और ओलावृष्टि हुई थी जिससे किसानों को खासा नुकसान झेलना पड़ा था। जिसके बाद सूबे के कृषि मंत्री ने भी फसल की क्षति का जायजा लिया था और किसानों को हरसंभव मदद का भरोसा दिलाया था।

कृषि इनपुट अनुदान योजना के तहत असिंचित क्षेत्र के किसान को 6800 रुपए प्रति हैक्टेयर की दर से अनुदान दिया जाएगा। सिंचित क्षेत्र के किसान को 13500 रुपए प्रति हैक्टेयर की दर से अनुदान दिया जाएगा। यह अनुदान प्रति किसान दो हैक्टेयर के हिसाब से दिया जाएगा। इस योजना के अंतर्गत सरकार द्वारा प्रभावित किसानों को कम से कम एक हजार रुपए का अनुदान दिया जाएगा।