देश

पैनिक होने की जरूरत नहीं है ! जानिए, लॉकडाउन के दौरान क्या खुला रहेगा और क्या बंद?

डेस्क: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वायरस को लेकर दूसरी बार मंगलवार को देश को संबोधित किया। पीएम मोदी ने कहा कि जनता कर्फ्यू की सफलता के लिए देश की जनता बधाई के पात्र हैं। पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि आज रात 12 यानी 24 मार्च (मंगलवार) बजे से देश के हर हिस्से में लॉकडॉउन किया यह लॉकडाउन 21 दिनों का होगा।जा रहा है। उन्होंने कहा कि ये एक तरह का कर्फ्यू ही है। यह जनता कर्फ्यू से ज्यादा सख्त होगा। कोरोना महामारी को रोकने के लिए यह लॉकडाउन जरूरी है।

प्रधानमंत्री मोदी के इस घोषणा के बाद लोग पैनिक होने लगे हैं। घरों से निकल कर किराना,दवाई, दूध और सब्जी को लेकर चिंतित हैं। लेकिन घबराने की कोई जरूरत नहीं है।

जानिए, लॉकडाउन के दौरान क्या खुला रहेगा और क्या बंद।

लॉकडाउन के दौरान इन चीजों पर प्रतिबंध नहीं होगा। दवाएं , राशन, दूध , पुलिस, पेट्रोल पंप, बिजली , गैस सेवा, प्रिंट और इलेक्ट्रानिक मीडिया, बैंक, डॉक्टर के यहां जाने की इजाजत होगी, पेट्रोल, सीएनजी, पीएनजी , इंटरनेट।

ये चीजें/सेवाएं बंद रहेंगी। व्यवसायिक वाहन, बस, ट्रेन, मॉल, हॉल, जिम, स्पा, स्पोर्ट्स क्लब, सभी फैक्ट्रियां, वर्कशॉप, गोदाम, हफ्ते में लगने वाले बाजार, सभी सरकारी दफ्तर।

लोगों को सिर्फ मेडिकल जरूरत के लिए या राशन, दूध और सब्जी खरीदने जाने के लिए प्राइवेट गाड़ी ले जाने की इजाजत होगी।

वहीं ये विभाग भी खुले रहेंगे। रक्षा विभाग, केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल, राजकोष, डिजास्टर मैनेजमेंट, बिजली उत्पादन और ट्रांसमिशन यूनिट, पोस्ट ऑफिस, पुलिस ,होम गार्ड, सिविल डिफेंस, फायर और इमर्जेंसी सर्विस, जेल, जिला प्रशासन, बिजली, पानी ।

इसके अलावा अंतिम संस्कार के दौरान 20 से अधिक लोगों के जमा होने की अनुमति नहीं। लॉकडाउन को लागू करने के लिए जिलाधिकारी द्वारा कार्यकारी मजिस्ट्रेट तैनात किए जाएंगे। सरकारी निर्देश का पालन नहीं करने या झूठी सूचनाएं फैलाने पर एक साल तक की सजा हो सकती है। राहत पाने के नाम पर झूठे दावे करने वाले को 2 साल की सजा।