बिहार राज्य

लाखों प्रवासी बिहारियों के आवाज बने पप्पू ! कहा- मजबूर मत कीजिए CM साहब…

डेस्क: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वायरस को लेकर दूसरी बार मंगलवार को देश को संबोधित किया। इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि जनता कर्फ्यू की सफलता के लिए देश की जनता बधाई के पात्र हैं। पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि आज रात 12 यानी 24 मार्च (मंगलवार) बजे से देश के हर हिस्से में लॉकडॉउन किया यह लॉकडाउन 21 दिनों का होगा। उन्होंने कहा कि ये एक तरह का कर्फ्यू ही है। यह जनता कर्फ्यू से ज्यादा सख्त होगा। कोरोना महामारी को रोकने के लिए यह लॉकडाउन जरूरी है।

लेकिन इस घोषण के साथ ही लाखों प्रवासी बिहारियों के लिए मुश्किल खड़ा हो गया है। दैनिक मजदूरी करके अपना रोजी-रोटी चलाने वाले लोगों का रोजगार तो समाप्त हो गया है। मालिकों के उनको छुट्टी दे दिया है। ऐसे में वे लोग महानगरों में स्टेशनों और बस स्टैंडों में फंसे हुए हैं।

इसको लेकर जाप प्रमुख पप्पू यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से अपील की है कि उन्हें वापस लाएं नहीं तो वो अपने स्तर उन्हें वापस लाने का प्रयास करेंगे। पप्पू यादव ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा है, ‘ CM साहब, लाखों बिहारी देश के विभिन्न कोने में फंसे हैं। उन्हें लाने का इंतज़ाम नहीं है। अपना हेल्पलाइन नंबर जारी कर हर कीमत पर उन्हें अपने घरों तक पहुंचाने की व्यवस्था करें। अन्यथा,मुझे मजबूरन कदम उठाना होगा। मैं एक-एक को उनके घर पहुंचा दूंगा। पर आप फिर केस कर देंगे!’

बता दें कि लॉकडाउन के दौरान मास्क बांट रहे मधेपुरा के पूर्व सांसद और जाप के राष्ट्रीय अध्यक्ष पप्पू यादव और उनके 50 सहयोगियों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। बता दें कि प्रेमचंद गोलंबर के पास टेंट लगाकर वे मास्क बांट रहे थे। कदमकुआं पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने भीड़ को आगाह किया लेकिन वे लोग हटने को तैयार नहीं हुए। और मास्क और साबुन बांटते रहे।

जानकरी के मुताबिक पुलिस इसके बाद सख्ती से पेश आई और सभी को वहां से हटाया। थानेदार निशिकांत निशि ने कहा कि उनके खिलाफ आईपीसी की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है।