बिहार राज्य

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर दोहरा ‘प्रहार’, … के बाद अब PK ने लगा दी क्लास !

डेस्क: देशभर में कोरोना मरीजों का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है। अब तक 591 कंफर्म केस मिले हैं। इसमें 11 लोगों की मौ’त हो गई है, जबकि 46 लोग ठीक हो चुके है। कोरोना वायरस के संक्रमण के वजह से पूरे भारत में लॉकडाउन है।

ऐसे में बिहार के हजारों लोग दूसरे राज्यों में फंस गए हैं। बहुत सारे लोग बस स्टैंड और रेलवे स्टेशन के आस-पास अटके हुए हैं। कई वीडियो सामने आ रहा है, जिसमें लोगों को रोते-विलखते देखा जा सकता है।

इसको लेकर चुनावी रणनीतिकार और जेडीयू के पूर्व उपाध्यक्ष और चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने दिल्ली और अन्य शहरों में फंसे लोगों की मदद को लेकर सीएम नीतीश कुमार को भी अपने निशाने पर लिया है।

उन्होंने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा है, ‘ ”दिल्ली और अन्य कई जगहों पर बिहार के सैकड़ों गरीब लोग लॉकडाउन की वजह से फंसे हुए हैं। नीतीश कुमार जी, जब दुनिया भर की सरकारें अपने लोगों की मदद कर रही हैं, बिहार सरकार इनलोगों को इनके घरों तक पहुंचाने अथवा जहां ये लोग हैं वहीं कुछ फ़ौरी राहत की व्यवस्था क्यों नहीं कर रही है?”

इससे पहले जाप प्रमुख पप्पू यादव ने भी इसी बात को लेकर सीएम पर निशाना साधा था। उन्होंने कहा था, ,CM साहब लाखों बिहारी देश के विभिन्न कोने में फंसे हैं। उन्हें लाने का इंतज़ाम नहीं है।अपना हेल्पलाइन नंबर जारी कर हर कीमत पर उन्हें अपने घरों तक पहुंचाने की व्यवस्था करें।अन्यथा,मुझे मजबूरन कदम उठाना होगा।मैं एक-एक को उनके घर पहुंचा दूंगा।पर आप फिर केस कर देंगे!’

ज्ञात हो कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वायरस को लेकर दूसरी बार मंगलवार को देश को संबोधित किया। इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि जनता कर्फ्यू की सफलता के लिए देश की जनता बधाई के पात्र हैं। पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि आज रात 12 यानी 24 मार्च (मंगलवार) बजे से देश के हर हिस्से में लॉकडॉउन किया यह लॉकडाउन 21 दिनों का होगा। उन्होंने कहा कि ये एक तरह का कर्फ्यू ही है। यह जनता कर्फ्यू से ज्यादा सख्त होगा। कोरोना महामारी को रोकने के लिए यह लॉकडाउन जरूरी है। बता दें कि
बिहार में ये 23 मार्च से ही लॉकडाउन लागू है।