देश

बड़ी उपलब्धि: कोरोना वायरस से लड़ने के लिए 10 लाख रुपये का वेंटिलेटर सिर्फ 7,500 रुपये में उपलब्ध कराएगी महिंद्रा एंड महिंद्रा!

डेस्क: देश में कोरोना वायरस का प्रकोप लगातार बढ़ता जा रहा है। अलग-अलग राज्यों में इसके मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा देखा जा रहा है। देश में पिछले 24 घंटे में 42 नए मामले सामने आए हैं जबकि कोविड-19 से जूझते 4 लोगों की मौ’त हुई हैं। देश में कोरोना वायरस से संक्रमित मिरिजों के कुल केस 656 हो गए हैं। वहीं इसके वजह से भारत में 16 लोगों की मौत हो गई है।

बता दें कि कोरोना वायरस की महामारी से जूझने के लिए वेंटिलेटर की भारी जरूरत होती है। इसको।लेकर दिग्गज ऑटोमेकर कंपनी महिंद्रा ऐंड महिंद्रा ने एक अच्छी खबर दी है।

कंपनी ने गुरुवार को कहा कि उसे एक ऐसा वेंटिलेटर बना लेने की उम्मीद है, जिसकी कीमत महज 7,500 रुपये तक होगी। कंपनी ने कहा कि उसे बैग वॉल्व मास्क वेंटिलेटर जिसे बोल-चाल की भाषा में अंबु बैग कहा जाता है, के एक प्रतिरूप के लिए तीन दिन में मंजूरी मिल जाने की उम्मीद है। फिलहाल देश में करीब 40 हजार वेंटिलेटर ही मौजूद हैं, जिनमें से अधिकतर मेट्रो शहरों, मेडिकल कॉलेजों और प्राइवेट अस्पतालों में उपलब्ध हैं।

महिंद्रा समूह के चेयरमैन आनंद महिंद्रा ने एक ट्वीट में कहा, ‘हम इसके साथ ही आईसीयू वेंटिलेटर बनाने वाली एक स्वदेशी कंपनी के साथ भी मिलकर काम कर रहे हैं। इन परिष्कृत मशीनों की कीमत पांच लाख से 10 लाख रुपये के बीच होती है। हमारी टीम द्वारा तैयार यह उपकरण (अंबु बैग) आपात स्थिति में कुछ देर तक जीवन की रक्षा करने में सक्षम है। टीम का अनुमान है कि इसकी कीमत 7,500 रुपये से कम होगी।’

इससे पहले महिंद्रा एंड महिंद्रा के प्रबंध निदेशक डॉ. पवन के गोयनका ने कहा कि समूह दो बड़े सार्वजनिक उपक्रमों और मौजूदा वेंटिलेटर निर्माता के साथ मिलकर काम कर रहा है ताकि उन्हें डिजाइन को आसान बनाने और क्षमता बढ़ाने में मदद मिल सके और महिंद्रा की इंजीनियरिंग टीम भी उनके साथ इस काम में जुटी हुई है।

डॉ. गोयनका ने ट्विटर पर यह भी साझा किया कि कंपनी Bag Valve Mask (बैग वाल्व मास्क) वेंटिलेटर के एक ऑटोमैटिक वर्जन पर भी काम कर रही है जिसे आमतौर पर अम्बु बैग के रूप में जाना जाता है। कंपनी उम्मीद कर रही है कि अगले 3 दिनों में आवश्यक मंजूरी के लिए इसका एक प्रोटोटाइप तैयार हो जाएगा।