देश

Good News: भारतीय वैज्ञानिकों ने की कोरोना वायरस की पहचान, जल्द ही मिलेगा इलाज !

डेस्क: पूरी दुनिया जिस कोरोना ( COVID19) महामारी से लड़ रही है। भारतीय वैज्ञानिकों ने उनकी पहली माइक्रोस्कोपी तस्वीर जारी की है। यह तस्वीर भारतीय चिकित्सा अनुसंधान जर्नल (IJMR) के ताजा संस्करण में प्रकाशित की गई है। वैज्ञानिकों ने प्रयोगशाला द्वारा पुष्टि किए गए देश में कोरोना वायरस के पहले शख्स के गले की खराश का नमूना लिया था। बता दें कि देश में कोरोना वायरस यह पहला मामला 30 जनवरी को केरल में सामने आया था।

कोरोना वायरस की जो तस्वीर भारतीय वैज्ञानिकों ने जारी किया है उसमें वायरस एक बिंदु से भी काफी छोटा नजर आ रहा है। माना जा रहा है कि इस उपलब्धि से भारतीय वैज्ञानिक जल्द ही इस जानलेवा वायरस के इलाज तक भी पहुंच जाएंगे जिसने पूरी दुनिया में कहर बरपा दिया है।

बता दें कि कोरोना वायरस भारत में अपना पैर लगातार पसारता जा रहा है। देश में कोरोना से पीड़ित लोगों की संख्या 800 के पार पहुंच गई। वहीं अबतक 19 लोगों की मौ’त हो चुकी है। लॉकडाउन के चलते आम जनमानस को मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है और हजारों मजदूर अपने घरों के लिए पैदल ही निकल रहे हैं।

स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने बताया कि पिछले 24 घंटे में इस संक्रमण की वजह से 4 मरीजों की मौत हो चुकी है। उन्होंने बताया कि 10,000 वेंटिलेटर के लिए एक सार्वजनकि क्षेत्र की कंपनी को आदेश दिया गया है। वहीं, भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड (बीईएल) से भी 1-2 महीनों में 30,000 अतिरिक्त वेंटिलेटर खरीदने का अनुरोध किया गया है। स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से राज्यों से कहा है कि वे सुनिश्चित करें कि विदेश से लौटे सभी यात्रियों की निगरानी की जाए। स्वा

गौरतलब है कि देश में कोरोना वायरस के खिलाफ जंग के तौर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार (24 मार्च) की रात आठ बजे ऐलान किया था कि रात 12 बजे से देश में 21 दिनों के लिए लॉकडाउन लागू रहेगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा देशभर में लागू किए गए इस लॉकडाउन का आज तीसरा दिन है। देश के तमाम हिस्सों में लॉकडाउन का कड़ाई से पालन किया जा रहा है और जहां लोग लापरवाही बरत रहे हैं, वहां प्रशासन एक्शन ले रहा है।