बिहार राज्य

बड़ी खबर: बिहार में 2 और कोरोना पॉजिटिव केस मिला, मरीजों की संख्या बढ़कर 9 हुआ

डेस्क: दुनिया भर के देशों में कहर बरपा रहा कोरोना वायरस तेजी से भारत में भी पांव पसार रहा है। गुरुवार को कोरोना के 88 नए मामले सामने आए हैं। इसी के साथ  कोरोनावायरस संक्रमितों की संख्या बढ़कर 694 हो गई है। स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, इसमें से 16 लोगों की वायरस की वजह से जान चली गई जबकि 45 लोग अब तक ठीक हो चुके हैं।

देश के अन्य राज्यों के साथ-साथ अब बिहार में भी इससे संक्रमित लोगों की संख्या में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। बिहार में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या अब बढ़कर 9 हो गई है। पटना राजेंद्र मेमोरियल रिसर्च इंस्टीट्यूट (RMRI) की जांच में इस बात की पुष्टि की गई है। दोनों ही मरीज का इलाज फिलहाल एनएमसीएच (NMCH) में चल रहा है। इनमें एक पटना के जगनपुरा स्थित उसी सरनाम अस्पताल का कर्मी है जहां मुंगेर के कोरोना पॉजिटिव युवक का डायलिसिस किया गया था। गुरुवार को भी सरनाम अस्पताल के एक 20 साल के वार्ड ब्वॉय में कोरोना पॉजिटिव पाया गया था।

बता दें कि बिहार में कोरोना वायरस से मृत हुए एक मात्र युवक मुंगेर का रहने वाला था और वह कतर से भारत लौटा था। वह किडनी पेशेंट भी था और एम्स में भर्ती किए जाने से पहले उसका डायलिसिस 19 मार्च को पटना के जगनपुरा स्थित सरनाम अस्पताल में हुआ था। इसके बाद उसे पटना एम्स में भर्ती किया गया था जहां उसकी मौत के बाद आई रिपोर्ट में वह कोराना पॉजिटिव पाया गया था।

इस बात की जानकारी के बाद स्वास्थ्य विभाग ने सरनाम अस्पताल के कई और कर्मियों की जांच करने का फैसला किया है। गुरुवार को सरनाम अस्पताल के वार्ड बॉय के की पॉजिटिव रिपोर्ट के बाद स्वास्थ्य विभाग हरकत में आया और सिविल सर्जन ने अस्पताल प्रबंधन से पूछताछ की। जानकारी के अनुसार शुक्रवार को अस्पताल के 30 कर्मियों का सैम्पल लिया जाएगा और जांच करवाई जाएगी।

बता दें कि बुधवार को कोरोना के दो और मरीजों की पुष्टि हुई थी। कोरोना से पहली मौत के रूप में मुंगेर के जिस युवक की जान गई थी, उसके घर की एक महिला व पड़ोसी के एक बच्चे की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई। महिला 38 साल, जबकि बच्चा 12 साल का है। दोनों को जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज अस्पताल, भागलपुर में भर्ती कराया गया है। मुंगेर के युवक की मौत 21 मार्च को एम्स को हो गई थी।