बिहार राज्य

बड़ी खबर: बिहार के लिए चिंता का विषय, सभी के सभी 22 कोरोना संक्रमित मरीज हैं युवा !

डेस्क: देश और दुनिया के साथ बिहार में भी को’रोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। मंगलवार को 7 और नए मामले सामने आए हैं। इस तरह बिहार में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या 22 हो गई है। जिसमें से एक कि मौ’त हो चुकी है।

एक दिन में साथ 7 पॉजिटिव मरीज मिलने से स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया है। सबसे चौकानें वाली बात यह है कि बिहार के सभी पॉजिटिव मरीज की उम्र 38 साल से कम है। जो चिंता का विषय है। बता दें कि ऐसा माना जाता है कि कोरोना वायरस बुजुर्गों को ज्यादा प्रभावित करते हैं, लेकिन बिहार में उसका उलटा हो रहा है।

मंगलवार को आरएमआरआई (RMRI) में जहां तीन राउंड की जांच में तीन मरीजों में वायरस की पुष्टि हुई है। इसमें गया, गोपालगंज और बेगूसराय के जहां एक-एक मरीज मिले हैं।

वहीं आईजीआईएमएस (IGIMS) में एक बार में 4 मरीज पॉजिटिव पाए गए। आईजीआईएमएस की चार पॉजिटिव रिपोर्ट वाले सभी सीवान के रहनेवाले हैं। रिपोर्ट आते ही स्वास्थ्य विभाग ने संबंधित जिलाधिकारी को अलर्ट कर दिया है और उन जिलों में संबंधित इलाकों को सील करने की प्रक्रिया भी शुरू हो गयी है।

बताते चले कि 1 अप्रैल का दिन बिहार के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण होगा, क्योंकि बुधवार को 400 सैम्पल की बिहार में जांच होगी और सभी सैम्पल ज्यादातर उनलोगों की है जिनकी ट्रैवल हिस्ट्री रही है।

इस तरह प्रदेश में कोरोना संक्रमण से पीड़ित जिलों में गया और गोपालगंज का भी नाम जुड़ गया है। पीड़ित जिलों की संख्या नौ पहुंच गयी है। खास यह कि गया जिले के मूल निवासी जिस युवक में कोरोना पाॅजिटिव पाया गया है, वह मुंगेर के नेशनल अस्पताल में आइसीयू का वरिष्ठ कर्मी है।

इसी अस्पताल में कोरोना से मृत युवक का प्रारंभिक इलाज किया गया था। इसके साथ मुंगेर जिले में पांच, पटना जिला में पांच, नालंदा जिला में एक, सीवान जिला में पांच, लखीसराय जिला में एक, बेगूसराय जिला में एक,सहरसा जिला में दो और गोपालगंज में एक नये मरीज की रिपोर्ट मिली है। जिनमें तीन मरीजों का इलाज के बाद जांच रिपोर्ट निगेटिव पाये जाने के बाद उन्हें घर भेज दिया गया है।