देश

वरिष्ठ पत्रकार रजत शर्मा ने कहा-पीएम पर भरोसा रखिए, पप्पू बोले-इसे कहते हैं ‘अप्रैल फूल’ बनाना !

डेस्क: इंडिया टीवी के पत्रकार रजत शर्मा ने कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को रोकने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के फैसले की तारीफ की है। लेकिन यह मधेपुरा के पूर्व सांसद और जाप प्रमुख पप्पू यादव को पंसद नहीं आया।

उन्होंने प्रतिक्रिया देते हुए अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा है, ‘इसे कहते हैं ‘अप्रैल फूल’ बनाना!’

बता दें कि बुधवार सुबह रजत शर्मा ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा कि अमेरिका में अब लोगों से कहा गया है कि कोरोना से म’रने वालों की संख्या एक लाख से ढाई लाख तक पहुँच सकती है। क्योंकि ट्रम्प ने अपने व्यापार को बचाना बेहतर समझा। हम बचे हुए है क्योंकि मोदी ने अपने लोगों को बचाने में ताक़त लगाई। अपने लीडर पर भरोसा रखिये। घर पर रहिये।’

गौरतलब है कि पुर्व सांसद पप्पू यादव बिना तैयारी के लॉकडाउन के कारण प्रवासी मजदूरों को हुई दिक्कत को लेकर पिछले कुछ समय से लगातर केंद्र सरकार पर हमलावर है। वो खुद आगे बढ़कर प्रदेश में फंसे लोगों को मदद कर रहे हैं।

बता दें कि कोरोना के प्रकोप को रोकने के लिए पीएम मोदी ने पिछले हफ्ते मंगलवार को देशभर में 21 दिनों के लॉकडाउन का ऐलान किया था। यह लॉ़कडाउन पिछले सप्ताह बुधवार से लागू है। लेकिन इसके कारण प्रवासी मजदूरों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। पप्पू यादव की नाराजगी इसी को लेकर है। उनका मानना है कि सरकार ने लोगों को बचाने के बजाय परेशानी में डालने का काम किया है।

इससे पहले वो प्रधानमंत्री से कई अपील कर चुके हैं, उन्होंने अपने एक ट्वीट में लिखा था, ‘प्रधानमंत्री जी,
विनम्र निवेदन है किराया पर रहने वाले सभी लोगों का 2 माह का रूम रेंट सरकार वहन करे। बिजली, पानी का बिल पूरा माफ हो। इस बारे में राज्य के साथ केंद्र सरकार तत्काल निर्णय ले।’

बता दें कि कोरोना वायरस महामारी के कारण अमेरिका लाचार है। यहां इसके संक्रमितों की संख्या डेढ़ लाख के करीब पहुंच गई है। वहीं, इससे लगभग 2500 लोगों की जा’न चली गई है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने चिंता व्यक्त करते हुए कहा था कि अमेरिका में अगले दो सप्ताह में कोरोना वायरस के कारण मृ’त्यु दर सर्वाधिक हो सकती है। उन्होंने रविवार शाम को कहा, देश में मौ’तों का आंकड़ा अगले दो हफ्ते में एक से दो लाख तक पहुंच सकता है।