देश

अभी-अभी: सोनिया गांधी पर गृहमंत्री अमित शाह ने किया पलटवा’र, कहीं ये बड़ी बात

डेस्क: कोरोना वायरस को लेकर केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी पर पलटवा’र किया है। अमित शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में कोरोनावायरस से लड़ने के भारत के प्रयासों की घरेलू और विश्व स्तर पर प्रशंसा की जा रही है। कोविड-19 को हराने के लिए 130 करोड़ भारतीय एकजुट हैं। फिर भी, कांग्रेस इसपर गंदी राजनीति कर रही है। वक्त आ गया है कि वह राष्ट्रहित में सोचें और लोगों को भ्रमित करना बंद करे।

बता दें कि गुरुवार को कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हुई। इस दौरान कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने मोदी सरकार पर निशाना साधा। सोनिया गांधी ने कहा कि 21 दिन का लॉकडाउन जरूरी था, लेकिन अनियोजित तरीके से लागू किया गया। लॉकडाउन के कारण लाखों प्रवासी मजदूरों का उत्पीड़न हुआ।

केंद्र सरकार से मांग करते हुए सोनिया गांधी ने कहा कि सरकार को डॉक्टरों, नर्सों और चिकित्सा कर्मचारियों को व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण प्रदान करना चाहिए। सरकार को नामित अस्पतालों, बेड की संख्या, क्वारनटीन और परीक्षण सुविधाओं और चिकित्सा आपूर्ति का विवरण प्रकाशित करना चाहिए। फसल कटा’ई के लिए किसानों पर लगा प्रतिबंध हटाना चाहिए। इसके साथ ही सोनिया गांधी ने केंद्र सरकार से मध्यम वर्ग के लिए एक सामान्य न्यूनतम राहत कार्यक्रम तैयार करने और प्रकाशित करने की अपील की।

वहीं, उत्तर प्रदेश सरकार पर निशाना साधते हुए कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा, ‘यूपी के मजदूरों के पलायन की तस्वीर को देखकर दिल दुखता है। हमारे कार्यकर्ता इन मजदूरों को खाना और दवाएं दे रहे हैं। इन मजदूरों को अमा’नवीय तरीके से क्वारनटीन किया जा रहा है और इन पर कीटनाशक का छिड़काव किया जा रहा है।’

बैठक में सोनिया गांधी के साथ पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, राहुल गांधी, गुलाम नबी आजाद, पी. चिदंबरम, कैप्टन अमरिंदर सिंह, अधिरंजन चौधरी, पीएल पुनिया, रणदीप सुरजेवाला, रघुवीर मीणा, रजनी पाटिल, अंबिका सोनी, रोहन गुप्ता, केसी वेणुगोपाल राव, ओमान चांडी, आरपीएन सिंह, लालजी देसाई, श्रीनिवास बीवी, मोतीलाल वोरा, जितिन प्रसाद जैसे नेता शामिल रहे।