देश

Big News: गृह मंत्री के आदेश पर तब्लीगी जमात के सदस्यों पर बड़ी कार्रवाई, सभी को किया ब्लै’कलिस्ट !

डेस्क: दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित मकरज में तब्लीगी जमात के लोगों के जुटने के मामले में केंद्र सरकार अब सख्त कदम उठाना शुरू कर दिया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक तब्लीगी जमात के कार्यक्रम में शामिल होने वाले 960 विदेशियों को ब्लै’कलिस्ट कर दिया गया है। जमात से संबंधित गतिविधियों में शामिल होने के कारण उनका पर्यटक वीजा भी रद्द कर दिया गया है।

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने  दिल्ली पुलिस और अन्य संबंधित राज्यों के डीजीपी को तब्लीगी जमात निजामुद्दीन मामले में 960 विदेशियों के खिलाफ विदेशी अधिनियम 1946 और आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 के तहत कानूनी कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए थे। जिसके बाद सभी का पर्यटन वीजा रद्द कर दिया गया है।

केंद्रीय गृह मंत्रालय में संयुक्त सचिव पुण्य सलिल श्रीवास्तव ने गुरुवार को संवाददाता सम्मेलन में बताया कि कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए देशभर में तब्लीगी जमात के सदस्यों और उनके संपर्क में आए करीब 9000 लोगों को अब तक क्वारंटीन कर दिया गया है। वहीं दिल्ली में तब्लीगी जमात के ऐसे करीब 2000 सदस्यों में से 1804 को क्वारंटीन केंद्रों में भेज दिया गया है जबकि लक्षण वाले 334 सदस्यों को अस्पतालों में भर्ती कराया गया है।

बता दें कि देश में अब तक कोरोना वायरस संक्रमण के 1965 मामलों की पुष्टि हो चुकी है। इसमें से 400 से ज्यादा मामले निजामुद्दीन मरकज में शामिल हुए लोगों से जुड़े हैं। यानी देश के कुल केसों के 20 प्रतिशत के लिए अकेले तब्लीगी जमात की आपराधिक लापरवाही जिम्मेदार है।

अकेले दिल्ली और तेलंगाना में 100-100 से ज्यादा केस तब्लीगी जमात से जुड़े लोगों के हैं। ये आंकड़ें अभी और बढ़ सकते हैं क्योंकि तब्लीगी जमात से जुड़े 8,000 लोगों के टेस्ट के नतीजे आने अभी बाकी हैं। ये लोग निजामुद्दीन मरकज में हुए जलसे में या तो शामिल हैं या शामिल होने के संपर्क में आए हैं।