देश विदेश

ब्राजील के राष्ट्रपति ने पीएम मोदी को लिखी चिट्ठी, भारत की मदद को बताया ‘संजीवनी’

डेस्क: कोरोना वायरस की वजह से उत्पन्न महामारी से जूझ रहे विश्व के लिए हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन संजीवनी बन गया है। भारत सरकार द्वारा इसके निर्यात पर से प्रतिबंध हटाने के फैसले पर अमेरिका के बाद अब ब्राजील ने पीएम मोदी का आभार व्यक्त किया है।

ब्राजीली राष्ट्रपति जेर बोलसोनारो ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक चिट्ठी लिखी है। ब्राजील ने मलेर‍िया रोधी इस दवा की सप्‍लाइ के लिए भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धन्‍यवाद दिया। इससे पहले अमेरिकी राष्‍टपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन की सप्‍लाइ के लिए पीएम मोदी को महान नेता बताया था।

ब्राजील के राष्‍ट्रपति ने कहा कि जिस तरह हनुमान जी ने संजीवन बूटी लाकर भगवान राम के भाई लक्ष्‍मण के प्राण बचाए थे, उसी तरह से भारत की ओर से दी गई इस दवा से लोगों के प्राण बचेंगे। उन्‍होंने कहा कि भारत और ब्राजील मिलकर इस महासंकट का सामना करने में सक्षम होंगे। कोरोना संक्रमण के इलाज में लाभदायक बताई जा रही हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन दवा के लिए अमेरिका समेत दुनियाभर से मांग आ रही है।

इससे पहले अमेरिकी राष्‍ट्रपति ने फॉक्‍स न्‍यूज से बातचीत में कहा कि भारत ने अपने नागरिकों को बचाने के लिए दवा के निर्यात पर प्रतिबंध लगाया था। उन्‍होंने कहा कि पीएम मोदी महान हैं और बहुत अच्‍छे हैं। भारत से अभी बहुत अच्‍छी चीजें आनी बाकी हैं। उन्‍होंने कहा कि अमेरिका ने कोरोना वायरस से जंग के लिए हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन की 29 मिलियन डोज खरीदी है। इसमें से बड़ी तादाद में दवा भारत से आएगी।

बता दें कि मंगलवार को ही सरकार ने इस दवा पर लगे निर्यात से आंशिक तौर पर प्रतिबंध हटाया है। विदेश मंत्रालय के अनुसार सरकार ने मानवीय आधार पर यह फैसला लिया है। ये दवाएं उन देशों को भेजी जाएंगी जिन्हें भारत से मदद की आस है। हालांकि घरेलू जरुरतें पूरी होने के बाद स्टॉक की उपलब्धता के आधार पर निर्यात किया जाएगा।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने कहा कि यह किसी भी सरकार का दायित्व होता है कि पहले वह सुनिश्चित करे कि उसके अपने लोगों के पास दवा या इलाज के हर जरूरी संसाधन उपलब्ध हों। इसी के मद्देनजर शुरू में कुछ एहतियाती कदम उठाए गए थे और कुछ दवाओं के निर्यात को प्रतिबंधित किया गया था। भारत ने सोमवार को 14 दवाओं पर लगे प्रतिबंध को हटा दिया है।