देश

PM मोदी के पास राजस्थान में बीजेपी की सरकार बनाने का बड़ा मौका ! कांग्रेस के विधयाक…

डेस्क: देशभर में कोरोना के बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए सरकारें हर संभव प्रयास करने में जुटी है। जनता कर्फ्यू़ लॉकडाउन, संपूर्ण लॉकडाउन, कर्फ्यू लगाए जाने के बाद भी कोरोना के पॉजीटिव मरीजों की संख्‍या में लगातार इजाफा हो रहा है। केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक पिछले 24 घंटे में 773 नए मामले सामने आए हैं और 32 लोगों की मौत हुई है। इसी के साथ देशभर में संक्रमित मरीजों की संख्या 5274 हो गई। जिसमें से 4714 सक्रिय हैं, 411 लोग स्वस्थ हो चुके हैं या उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है और 149 लोगों की मौत हो चुकी है।

इस बीच कई विशेषज्ञ कह रहे हैं कि राजस्थान के भीलवाड़ा में कोरोना वायरस से निपटने को लेकर अपनाई गई नीति (भीलवाड़ा मॉडल) पूरे देश में लागू करने की बात कह रहे हैं। इस मॉडल की पूरे देश मेंतारीफ मिल रही है।

इसको लेकर जन अधिकार पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व मधेपुरा के पूर्व सांसद पप्पू यादव ने बीजेपी और पीएम मोदी पर तंज कसा है। उन्होंने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा है, ‘राजस्थान सरकार ने ‘भीलवाड़ा मॉडल’ के जरिये देश के सामने करोना से लड़ने का आदर्श पेश किया है। वहां की सरकार करोना से लड़ने में तल्लीन है, PM साहब आपके पास यही मौका है वहां विधायक खरीद कांग्रेस के बजाय बीजेपी की सरकार बना लें।’

क्या है भीलवाड़ा मॉडल? भीलवाड़ा में एक डॉक्टर के संक्रमित होने के बाद वहां तेजी से कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढ़ी, लेकिन बाद में यह आंकड़ा 27 मरीजों से अधिक नहीं बढ़ा। पॉजिटिव मरीज सामने आते ही भीलवाड़ा में कर्फ्यू लगाकर सीमाएं सील कर दी गईं। जिले के सभी निजी अस्पतालों और होटलों को अधिगृहीत कर लिया गया। लॉकडाउन कि सख्ती से पालना और घर-घर स्क्रीनिंग की गई।

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत

जनप्रतिनिधियों,मीडिया और सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधियों को भी शहर में प्रवेश नहीं दिया गया। जिला प्रशासन और पुलिस के भी कुछ ही अधिकारी शहर में गए। लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करवाने पर जोर दिया गया। इन सबके चलते भीलवाड़ा में कोरोना के मामले आगे नहीं बढ़े।

बता दें कि आज देश में सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य महाराष्ट्र में 60, दिल्ली में 51, मध्यप्रदेश में 16, आंध्र प्रदेश में 15, कर्नाटक में छह और राजस्थान में पांच नए मामले सामने आए हैं। पुणे में 24 घंटे में पांच लोगों की मौत हो गई। आज इंदौर में एक की मौत हुई है।