बिहार राज्य

बड़ी खबर: बिहार एक जिला बना कोरोना ‘हॉटस्‍पॉट’ तो दूसरा ‘कोरोना फ्री’

डेस्क: बिहार में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। गुरुवार को दोपहर तक 12 नए मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। इनमें 10 सीवान और दो बेगूसराय जिले के हैं। इस तरह प्रदेश में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 51 हो गई है। बिहार का सिवान जिला अब कोरोनाे का हॉटस्पॉट बन गया है। आज मिले मामलों में यहां के 10 मामले शामिल हैं। सीवान में मरीजों की संख्या बढ़कर 20 हो गई है।

सिवान के आज मिले मामलों में नौ एक ही परिवार के हैं। इस परिवार का एक सदस्य हाल ही में ओमान से लौटा था। इनमें शामिल चार महिलाओं में सबकी उम्र क्रमशः – 12, 18, 26 और 29 साल बतायी जा रही है। दूसरे सैंपल में इसी परिवार की तीन अन्य महिलाएं, जिनकी आयु 50 वर्ष 12 वर्ष और 20 वर्ष है तथा दो पुरुष, जिनकी आयु 30 वर्ष 10 वर्ष है, की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है। जानकारी के मुताबिक सिवान में ओमान से लौटे परिवार में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या अब 15 हो गई है।

सिवान से मिला एक और मामला 16 मार्च को दुबई से लौटे एक व्‍यक्ति का है। बेगूसराय में भी दो मामले पॉजिटिव मिले हैं। उनमें 15 वर्षीय लड़का और एक 18 वर्षीय युवक है। स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ने इसकी जानकारी दी है।

एक साथ सिवान से कोरोना के 10 मरीजों के मिलने के बाद जहां जिला प्रशासन हाई अलर्ट पर है वहीं स्वास्थ्य विभाग में भी एहतियात के तौर पर कदम उठाते हुए कई इलाकों को सील करने का निर्देश दिया है। मरीज के गांव में मेडिकल टीम कैंप कर रही है। गांव के तीन किलोमीटर के इलाके को सील किया गया है।

इस बीच डीएम कुमार रवि ने बैठक के बाद पटना-बेगूसरया सीमा को सील करने का फैसला लिया। इस फैसले के साथ ही तत्काल प्रभाव से पटना और बेगूसराय सीमा को सील कर दिए जाने की प्रक्रिया भी शुरू हो गई। पटना डीएम कुमार रवि ने इसके लिए बाढ़ अनुमंडल पदाधिकारी को दिशा निर्देश जारी करते हुए कहा की जल्द से जल्द पटना बेगूसराय सीमा के उन सभी रास्तों को सील किया जाए जहां से आवागमन संभव होता है।

राहत की खबर यह है कि बिहार के सिवान और बेगूसराय में बढ़ते कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या के बीच मुंगेर के कुल सात कोरोना संक्रमित मरीजों में से छह बिल्कुल ठीक हो गए हैं और उन्हें वापस घर भेज दिया गया है। हालांकि एहतियातन अभी वे सभी होम क्वारेंटाइन में ही रखे गए हैं। जबकि एक व्यक्ति की मौत पहले ही हो चुकी थी।

स्वास्थ्य विभाग द्वारा मुंगेर के पहले मरीज सैफ के संपर्क में आने वाले लोगों की जांच के प्रथम और द्वितीय चरण में 7 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव पायी गयी थी। इसमें से 6 कोरोना से जंग जीत अस्पताल से अपने घर लौट चुके हैं। वहीं पिछले कई दिनों से नया मरीज भी नहीं मिल रहा है। इसलिए चेन ब्रेक की संभावना जताई जा रही है।