बिहार राज्य

कोरोना अपडेट: बिहार में दिल्ली निजामुद्दीन मरकज से लौटा पहला जमाती मिला पॉजिटिव, मोहल्ला सील

डेस्क: बिहार में कोरोना संक्रमित मरीज के मिलने का सिलसिला जारी है। मंगलवार को एक साथ 6 नए मरीज मिलने के बाद बुधवार को भी जांच में एक संक्रमित मिला है। इस तरह प्रदेश में संक्रमित मरीजों की संख्या 39 हो गई है।

खास बात यह है कि पॉजिटिव पाया गया मरीज नवादा का रहने वाला है और उसका कनेक्शन तब्लीगी जमात से बताया जा रहा है। बिहार में तबलीगी जमात से जुड़ा यह पहला संक्रमित केस है। नवादा शहर के पार नवादा इलाके का रहने वाला 38 वर्षीय शख्स 3 मार्च को मरकज से लौटा था।

अब उसकी पूरी ट्रैवल हिस्ट्री खंगाली जा रही है। फिलहाल जिला प्रशासन और स्वास्थ विभाग ने मरीज के पूरे परिवार को क्वारेंटाइन कर दिया है। उसके मुहल्ले को भी पूरी तरह सील किया जा रहा है। सोमवार को वह जांच करवाने नवादा अस्पताल पहुंचा था। सदर अस्पताल में उसका ब्लड सैंपल लिया और जांच के लिए आईजीआईएमएस भेजा गया था। बुधवार को उसका रिपोर्ट पॉजिटिव आया है।

इस बारे में बिहार स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ने बुधवार को बताया कि नवादा जिले में 38 वर्षीय एक मरीज के कोरोना वायरस संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। उसके बारे में जानकारी मिली है कि दिल्ली के मरकज में पहुंचा था और 3 मार्च को लौटा था। उन्होंने कहा कि इस मरीज के अन्य लोगों के संपर्क में आने और उसकी पिछली यात्राओं के बारे में पता लगाया जा रहा है।

वहीं कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए मोतिहारी के जिलाधिकारी ने गोपालगंज की सीमा को सील करने का निर्देश दिया है। उन्होंने जिले के एसपी को लिखा है कि तुरंत ही डुमरियाघाट और सत्तरघाट से सटे गोपालजंग के बॉर्डर को पूरी तरह से बंद कर दिया जाए। पूर्वी चंपारण प्रशासन ये फैसला गोपालगंज में कोरोना पीड़ितों के मिलने पर सुरक्षा और सतर्कता के मद्देनजर लिया है।

बता दें कि देशभर में 5,500 से अधिक लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हैं और इसके कारण कम से कम 172 लोगों की मौत हो चुकी है। वैसे केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की वेबसाइट के मुताबिक बुधवार शाम 5 बजे तक देश में कोरोना वायरस संक्रमण के कुल 5,274 मामलों की पुष्टि हो चुकी थी। वैसे अलग-अलग राज्यों ने जो आंकड़े दिए हैं, इस हिसाब से देश में अब कुल केस 5,521 से ज्यादा पहुंच चुके हैं।