politics बिहार

बड़ी खुशखबरी: बिहार के लोगों को जल्द मिलेगी सस्ती बिजली, जानिए पूरी डीटेल

डेस्क: देश में लगातार महंगाई बढ़ते जा रही हैं. गैस सिलिंडर और पेट्रोल के दाम भी बढ़ रहे हैं. बिजली की दरे भी बढ़ी हुई हैं. लेकिन अब खबर आई हैं की बिहार में बिजली की दरे कम हो सकती हैं. इसके लिए टैरिफ और स्‍लैब में बदलाव करने की तैयारी है. बिजली कंपनी ने इस रणनीति पर काम करना भी शुरू कर दिया है. टैरिफ और स्‍लैब में बदलाव बिहार विद्युत विनियामक आयोग की सहमति के बाद ही किया जा सकेगा.

मिली जानकारी के अनुसार सरकार बिजली क्षेत्र में लगातार सुधार कर रही है. हाल के दिनों में बिजली मीटर को लेकर भी बड़ी घोषणा की गई थी, जिसमे कहा गया की  एक समय था जब बिजली में 90 से अधिक श्रेणियां हुआ करती थीं. अब इसे 36 पर लाया गया है. इन श्रेणियों को आने वाले दिनों में और कम करने की कोशिश की जाएगी, ताकि बिजली दर में मौजूद असमानताओं को दूर किया जा सके. उन्‍होंने आगे बताया कि पहले 4 से 5 स्‍लैब हुआ करता था, जिसे कम कर के 3 तक लाया गया है.

ऐसे मिलेगी सस्ती बिजली 

वही इस बारे संजीव हंस ने बिजली दरों के स्‍लैब को कम कर 1 करन के पीछे अपना तर्क देते हैं. सिर्फ 1 स्‍लैब होने से बिजली उपभोक्‍ता भी इस बात को अच्‍छी तरह से समझ सकेंगे कि उन्‍होंने कितनी बिजली का उपभोग किया है. इससे बिजली दरों में कमी आने की संभावना है. स्‍मार्ट प्रीपेड बिजली मीटर को लेकर उठे सवालों पर उन्‍होंने कहा कि यह कदम उपभोक्‍ताओं के हित में है. बिहार में पहले मीटर लगाने के लिए उपभोक्‍ताओं से पैसे लिए जाते थे, लेकिन अब बिजली कंपनी की ओर से इसे मुफ्त लगाया जाएगा. इसके अलावा संबंधित एजेंसी 8 वर्षों तक स्‍मार्ट प्रीपेड बिजली मीटर का रखरखाव भी करेगी.

साथ ही बिजली उपभोक्‍ताओं के हितों का ध्‍यान रखते हुए जल्‍द ही एक टोल फ्री नंबर और कॉल सेंटर की सुविधा बहाल की जाएगी. इससे बिजली उपभोक्‍ता किसी भी तरह की समस्‍या आने पर इस नंबर पर फोन कर उसका समाधान पा सकेंगे. तीन लाख से ज्‍यादा स्‍मार्ट मीटर लगाए जा चुके हैं. अगले चरण में ग्रामीण इलाकों में भी स्मार्ट मीटर लगाए जाएंगे. बताया जाता है कि स्मार्ट मीटर लगने के बाद संबंधित इलाकों में कंपनी की आमदनी में 30 प्रतिशत तक की बढ़ोत्‍तरी हुई है.