देश

Bharat NCAP: गाड़ी चलाने वालों के लिए Good News, सरकार करने जा रही आपके फायदे की काम, नितिन गडकरी ने दिया ग्रीन सिग्नल

Car Assessment Program Bharat NCAP:भारत में कारों की सेफ्टी के मामले में इस समय काफी चर्चा देखने को मिल रही है। भारत में गाड़ी खरीदने से लेकर बचने (Buy and Sell a Car) का तरीका जल्द ही पूरी तरह से बदलने जा रही है। दरअसल देश में गाड़ियों की सेफ्टी (Safety Features)के लिए ‘भारत एनसीएपी’ को अगले साल एक अप्रैल से शुरू किया जाएगा। इसके तहत गाड़ियों को टेस्ट के आधार पर सेफ्टी मानदंडों के लिहाज से ‘स्टार रेटिंग’ दी जाएगी।

यह भी पढ़ें:Traffic Park in Bihar: बिहार के हर जिले में बनेगा ट्रैफिक पार्क, जानिये इसकी खासियत

नितिन गडकरी ने दिया ग्रीन सिग्नल

बता दें कि अबतक कंपनियां (Car Companies) कारों को क्रैश टेस्टिंग के लिए विदेशों में भेजती हैं, लेकिन अब ऐसा नहीं होने वाला। केंद्र सरकार ने भी भारत में Bharat NCAP नामक एक Car Assessment Program को ग्रीन सिग्नल दिया है। अब भारत में ही सेफ्टी के मामले में कारों को स्टार रेटिंग प्रदान की जाएगी। इस प्रोग्राम की मंजूरी केंद्रीय सड़क और परिवहन राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी (Union Road and Transport Highways Minister Nitin Gadkari)द्वारा दी गई है।

Bharat NCAP के माध्यम से Safety Features का रखा जाएगा ख्याल

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) द्वारा किए गए ट्वीट के मुताबिक, नया कार मूल्यांकन कार्यक्रम- ‘Bharat NCAP’, ग्राहकों को ध्यान में रखकर बनाया गया है और वे जब भी नई कार को खरीदने की सोचें तो उससे पहले कस्टमर्स को उस कार की सेफ्टी के मामले में मिली स्टार रेटिंग के बारे में भी जानकारी हो जाए। इस कार्यक्रम से कंपनियां मजबूत कारों को बनाने की दिशा में बेहतर काम करेंगी, जिससे कार निर्माण के क्षेत्र में एक बेहतर कंपटीशन बना रहेगा। इस नया कार मूल्यांकन कार्यक्रम Bharat NCAP में भारत में ही कार क्रैश टेस्ट का आयोजन किया जाएगा और उनको सुरक्षा और परफॉर्मेंस के बेस्ड पर ही स्टार रेटिंग प्रदान की जाएगी।

Globel NCAP की तरह ही Bharat NCAP नियम और शर्तें

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के बयान के मुताबिक, इस क्रैश टेस्ट में कारों को यात्रियों की सेफ्टी के आधार पर स्टार रेटिंग्स प्रदान की जाएगी। साथ ही भारत की कार कंपनियों की विदेशों में एक अलग ही पहचान देखने को मिलेगी। मंत्री ने यह भी कहा कि Globel NCAP क्रैश टेस्ट प्रोटोकॉल्स की तर्ज़ पर Bharat NCAP के लिए भी नियम और शर्ते तय की जाएंगी। इन सब के बाद देश में टेस्टिंग फैसिलिटीज में कंपनियों को अपनी कारें भेजनी होगी और फिर कार क्रैश टेस्ट के दौरान एडल्ट ऑक्यूपेंट और चाइल्ड ऑक्यूपेंट की सेफ्टी से संबंधित स्टार रेटिंग्स प्रदान दी जाएंगी। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने यह भी कहा कि Bharat NCAP का योगदान आने वाले समय में इंडियन ऑटोमोबाइकल इंडस्ट्री को हब और आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में भरपूर दिखने को मिलेगा।

Car Assessment Program Bharat NCAP को लेकर केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी का ट्विट्ट

यह भी पढ़ें: Traffic Challan से कैसे बचे? वाहन मालिक कृपया ध्यान दें ! 50 रुपये का यह जरूरी काम जरुर करवा लें, नहीं तो हो सकता है जेल !

क्या है नितिन गडकरी का लक्ष्य?

भारत एनसीएपी गाड़ी बनाने वाली कंपनियों को सेफ्टी टेस्ट कार्यक्रम में स्वेच्छा से भाग लेने और नए कार मॉडलों में हाई सेफ्टी को शामिल करने के लिए प्रोत्साहित करेगा। इस पहल के जरिये सड़क दुर्घटनाओं में होने वाली मौतों में कमी लाने की कोशिश की जाएगी। गडकरी ने साल 2024 तक सड़क दुर्घटनाओं में होने वाली मौतों में 50 प्रतिशत की कमी लाने का लक्ष्य रखा हुआ है।