National News women oriented stories बिहार

बिहार की बेटी का कमाल: 23 दिनों में उमलिंग चोटी पर साइकिल से चढ़ाई करने वाली पहली महिला बनीं सविता

बिहार की महिलाएं किसी से कम नहीं है। जब वह एक बार कोई लक्ष्य बना लेती हैं तो सिर्फ पूरा करने का हौसला भी रखती हैं। ऐसा ही कुछ बिहार की होनहार साइकिलिस्ट ने किया है और अपने नाम एक नया कीर्तिमान हासिल कर लिया है, जिससे बिहार का भी नाम पूरे देश भर में लिया जा रहा है।

Indian Railway: बिहार के रेल यात्रियों के लिए खुशखबरी, दो नई रेल लाइन के लिए होगा सर्वे, जानिए-कौन सी हैं दो नई लाइन!

दरअसल छपरा की बेटी सविता महतो ने भारत के सबसे ऊंचे मोटर रोड की उमलिंग पास पर साइकिल से चढ़ाई की है। समुद्री तल से 19,300 फीट के दूरी पर स्थित चोटी पर साइकिल से चढ़ाई करने वाली वह पहली महिला हैं। 5 जून को दिल्ली से शुरू किए गए अपनी यात्रा को सविता ने 28 जून को उमलिंग में समाप्त किया। इसके बाद 28 जून को चोटी पर पहुंच तिरंगा लहराया। यह चोटी ट्रांस हिमालय का भाग है जो लद्दाख पर्वत श्रेणी में आता है।

वही इस समय सविता अभी लद्दाख में है। सविता ने एक मीडिया वेबसाइट से बात करते हैं बताया कि अपने परिवार के मदद के कारण वह अपना आज यह सपना पूरा कर पाए हैं।आर्थिक मदद मिलने के साथ अगला पड़ाव एवरेस्ट पर चढ़ाई करना होगा। सविता के पिता चौहान महतो बंगाल के सिलीगुड़ी में मछली का व्यवसाय कर परिवार का भरण पोषण करते हैं। सविता का आत्मविश्वास काफी ज्यादा हाई है और उन्हें यकीन है कि वह आगे भी कई बड़े लक्ष्य प्राप्त करेंगी।

बिहार में बड़े पैमाने पर तबादला, राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग के कई पदाधिकारियों का भी हुआ ट्रांसफर, देखिए लिस्ट!

हालांकि सविता ने अपने बयान में बताया कि वह सिर्फ पहाड़ों पर नहीं जाना चाहती। बल्कि वह अपने क्षेत्र की महिलाओं को सशक्त बनाना चाहती हैं। इसके लिए वह कई तरह के पहलुओं पर काम भी कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि साइकिल यात्रा के दौरान वह पहले भी अखंड हिमालय, स्वच्छ हिमालय, कर्तव्य गंगा समेत महिला सशक्तिकरण के संदेश को लेकर व्यापक स्तर पर अभियान चला चुकी है।