देश बिहार राज्य

New Traffic Rules Update: गाड़ी चलाने वाले हो जाएं सावधान, नए ट्रैफिक नियम आपको कर देंगे कंगाल ! यहां पढ़ें गाइडलाइन

New Traffic Rules Update: सड़क पर गाड़ी चलाते समय लोग हमेशा इस बात को लेकर आशंकित रहते हैं कि कहीं चालान (Traffic Rule Fine) ना कट जाए। सरकार की ओर से ऐसे तमाम नियम (Traffic Rule) बनाये गए हैं जिनका पालन करना अनिवार्य है। आमतौर पर लोगों को तेज वाहन चलाने का खामियाजा भुगतना पड़ता है। लेकिन अब धीमे वाहन चलाने वालों का भी चालान कट सकता है। क्योंकि अब चालान स्लो ड्राइविंग पर भी कटता है। बता दें कि मोटर व्हीकल ऐक्ट में समय-समय पर संशोधन होते रहते हैं, जिसके बाद नियमों के उल्लंघन पर जुर्माने की राशि में भी बढ़ोतरी की जाती है।

यह भी पढ़ें: Expressway in Bihar: ग्रीनफील्ड एक्सप्रेसवे से बदल जाएगी बिहार की सूरत, केंद्र ने दिया 29 हजार करोड़ का सौगात !

ज्यादातर हादसे ओवरटेकिंग की वजह से होते हैं

जैसा की आपको पता ही होगा कि देश में ज्यादातर हादसे ओवरटेकिंग के दौरान होते हैं। ओवरटेक करते समय आपको अपने वाहन की गति का विशेष ध्यान रखना होगा। विशेष रूप से एकल सड़कों पर ओवरटेक करते समय चालकों को बहुत सावधान रहना पड़ता है। इसी तरह अब अगर आप एक्सप्रेस वे पर गाड़ी चला रहे हैं तो ओवरटेक करते समय निर्धारित गति सीमा से कम वाहन चलाने पर भी आप पर जुर्माना लगाया जा सकता है।

New Traffic Rules Update: इस हाइवे पर नहीं चलेगी ‘स्लो स्पीड’

दरअसल अब सरकार खुद चाहती है कि हाइवे पर गाड़ियां रफ्तार भरें। लेकिन ऐसा नहीं करने वालों का चालान भी काट दिया जाता है। यह चालान 500 रुपये से लेकर 2000 रुपये तक हो सकता है। दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे पर ऐसा ही किया जाएगा। दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे देश के टॉप क्लास हाइवेज में से एक है। गाजियाबाद से मेरठ की ओर जाने के टाइम विजय नगर, क्रॉसिंग रिपब्लिक सोसायटी के सामने अक्सर इस हाइवे पर जाम लगता देखा जा सकता है।

स्लो स्पीड वालों के भी कटेंगे चालान (Traffic Rule Fine)

अब तक NHAI निर्धारित गति सीमा में ही वाहन चलाने का प्रचार प्रसार करता था। लेकिन अब ओवरटेकिंग में सावधानी बरतने संबंधी और निर्धारित गति सीमा से कम स्पीड में वाहन न चलाने संबंधी जानाकारियों का भी प्रचार-प्रसार किया जाएगा। इन नए विज्ञापनों में इस बात का भी जिक्र होगा कि वाहन चालक अगर निर्धारित सीमा से कम स्पीड में वाहन चलाते पकड़े गए तो, 500 से लेकर 2000 रुपए तक का चालान उनका भी काटा जाएगा। ठीक उसी तरह जैसे निर्धारित गति से ऊपर की स्पीड में वाहन चलाने वालों का चालान काटे जाने का नियम है।

एक्सप्रेसवे पर क्या है गाड़ी की गति सीमा

ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेसवे पर ओवरटेक करने के लिए 120 किमी की रफ्तार से गाड़ी चलाना होता है। इसी तरह मध्य लेन में गाड़ी की रफ्तार 100 किमी है और 80 किमी फूटपाथ किनारे लेन की स्पीड है। अब मेरठ एक्सप्रेसवे पर कार की स्पीड 100 किमी और बस की 80 किमी निर्धारित की गई है। इसी तरह यमुना एक्सप्रेसवे पर कार की रफ्तार 100 किमी और ट्रक-बस 80 किमी प्रति घंटा निर्धारित है।