cabinet decisions: BSNL Revival Package
देश

BSNL Revival Package: 1.64 लाख करोड़ रुपये से होगा BSNL का कायाकल्प, 30,000 गांवों को होगा जबरदस्त फायदा !

BSNL Revival Package:सरकारी दूरसंचार कंपनी बीएसएनएल को टेलीकॉम इंडस्ट्री में एक बार फिर से स्थापित करने के लिए केंद्रीय मंत्रिमंडल ने बड़ा फैसला लिया है। सरकार ने भारत संचार निगम लिमिटेड (BSNL) के रिवाइवल के लिए 1.64 लाख करोड़ रुपये के पैकेज को मंजूरी दी है। पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi)की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट बैठक (Union cabinet decisions)में इस पर मुहर लगी है।

यह भी पढ़ें: स्कूल में मास्टर जी हैं गायब तो टेंशन न लें, तुरंत इस टॉल फ्री नम्बर पर करें फोन, होगी का”र्रवाई

BSNL का BBNL के साथ मर्जर की मंजूरी ( BSNL-BBNL Merger)
BSNL का BBNL के साथ मर्जर की मंजूरी ( BSNL-BBNL Merger)

BSNL Revival Package; पीएम नरेंद्र मोदी ने की थी घोषणा

इसके तहत दो फैसले लिए गए हैं। बैठक में BSNL के रिवाइवल के अलावा देश के सभी गांवों तक 4जी मोबाइल सर्विसेज पहुंचाने के लिए एक प्रोजेक्ट को मंजूरी दी गई है। यह काम यूनिवर्सल सर्विस ऑब्लिगेशन फंड (Universal Service Obligation Fund) के जरिए किया जाएगा। इस पर करीब 26,316 करोड़ रुपये की लागत आएगी। बता दें कि पीएम नरेंद्र मोदी ने बीते साल स्वतंत्रता दिवस के मौके पर यह वादा किया था।

BSNL का BBNL के साथ मर्जर की मंजूरी ( BSNL-BBNL Merger)

कैबिनेट ने साथ ही बीएसएनएल और भारत ब्रॉडबैंड नेटवर्क लिमिटेड (BBNL) के मर्जर को भी हरी झंडी दे दी है। इस मर्जर से बीबीएनएल के 5।67 लाख किलोमीटर के ऑप्टिकल फाइबर का पूरा कंट्रोल बीएसएनएल हाथों में आ जाएगा। दूरसंचार मंत्री अश्विनी वैष्णव ने केंद्रीय मंत्रिमंडल द्वारा लिए गए फैसले की जानकारी देते हुए बताया कि कैबिनेट बैठक में बीएसएनएल और बीबीएनएल के विलय को भी मंजूरी दी गई है। उन्होंने कहा कि इससे दोनों कंपनियों की आर्थिक स्थिति में सुधार होगा और कामकाज के लिए तालमेल भी बेहतर हो सकेगा।

देश के सभी गांवों तक मोबाइल कनेक्टिविटी

आईटी मिनिस्टर ने बताया कि देश भर में मोबाइल कनेक्टिविटी को बढ़ाने के लिए 19,722 टावर लगाए जाएंगे। ऐसे सभी गांवों में 4जी कवरेज दी जाएगी, जहां अभी मोबाइल कनेक्टिविटी का अभाव है। उन्होंने कहा कि सरकार देश के हर हिस्से तक मोबाइल कनेक्टिविटी पहुंचाने के लिए प्रतिबद्ध है। बीएसएनएल के रिवाइवल के लिए 1।64 लाख करोड़ रुपये के पैकेज को मंजूरी दी है। पैकेज के तीन हिस्से हैं। इनमें सेवाओं में सुधार, बहीखातों को मजबूत करना और फाइबर नेटवर्क का विस्तार शामिल है। बीएसएनएल के 33,000 करोड़ रुपये के वैधानिक बकाए को इक्विटी में बदला जाएगा। साथ ही कंपनी इतनी ही राशि (33,000 करोड़ रुपये) के बैंक कर्ज के भुगतान के लिए बॉन्ड जारी करेगी।

कैसे होगा BSNLका कायाकल्प

उन्होंने बताया कि पैकेज में 43,964 करोड़ रुपये का नकद हिस्सा शामिल है। पैकेज के तहत 1।2 लाख करोड़ रुपये गैर-नकद रूप में चार साल के दौरान दिए जाएंगे। उन्होंने कहा कि मंत्रिमंडल ने बीएसएनएल और भारत ब्रॉडबैंड नेटवर्क लिमिटेड (बीबीएनएल) के विलय को भी मंजूरी दी है। मंत्री ने कहा कि 4जी सेवाओं की पेशकश के लिए बीएसएनएल को स्पेक्ट्रम का प्रशासनिक आवंटन किया जाएगा। इसके तरह 900/1800 मेगाहर्ट्ज बैंड में स्पेक्ट्रम का आवंटन इक्विटी निवेश के जरिये किया जाएगा, जिसकी लागत 44,993 करोड़ रुपये होगी।